Patrika Hindi News

> > > > Rape accused found dead in bhiwani jail

दुष्कर्म करने के आरोपी की भिवानी जेल में मौत

Updated: IST Kharun river woman body in the came over the next
दुष्कर्म के मामले में तीन दिन पहले गिरफ्तार किए गए एक आरोपी की बृहस्पतिवार सुबह जिला जेल में संदिग्ध हालत में मौत हो गई

भिवानी: गांव लोहानी से एक युवती का अपहरण कर हिसार के एक होटल में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किए जाने के बहुचर्चित मामले में तीन दिन पहले गिरफ्तार किए गए एक आरोपी की बृहस्पतिवार सुबह जिला जेल में संदिग्ध हालत में मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने घटना को लेकर सामान्य अस्पताल में हंगामा किया। परिजनों का आरोप था कि जुई पुलिस चौकी इंचार्ज द्वारा उसे दो दिन तक अवैध हिरासत में रखकर पिटाई की गई जिसके कारण उसकी मौत हो गई।

गांव लोहानी निवासी एक युवती का 9 सितंबर को गांव से ही अपहरण कर लिया गया था। युवती के परिजनों के बयान पर सदर थाना पुलिस ने मामला दर्ज किया था। युवती ने आरोप लगाया था कि हिसार के 12 क्वार्टर निवासी बजरंग व गांव जुगलान निवासी अशोक ने उसका अपहरण किया। पहले हांसी रखकर उसके साथ दुष्कर्म किया और उसके बाद उसे हिसार ले जाकर हिसार के ही 12 क्वार्टर निवासी नरेंंद्र को सौंप दिया। नरेंद्र ने भी उसे हिसार के एक होटल में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इस मामले में जुई चौकी पुलिस ने 18 सितंबर को मुख्य आरोपी बजरंग व उसके साथी गांव जुगलान निवासी अशोक को गिरफ्तार किया। इन दोनों की ही निशानदेही पर 19 सितंबर को उनके साथी नरेंद्र को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने तीनों आरोपियों को अदालत में पेश कर भिवानी जेल भेज दिया। तीन दिन पहले ही जेल भेजे गए आरोपी नरेंद्र की बृहस्पतिवार को जेल में संदिग्ध हालत में मौत हो गई। डिप्टी जेल अधीक्षक अमित अत्री की मौजूदगी में शव को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल लाया गया। मृतक दो बहन भाई थे और उसके माता पिता की मौत हो चुकी है।

मृतक के परिजनों ने बताया कि नरेंद्र को दो बच्चे हैं। एक पांच साल का लड़का व डेढ़ साल की लड़की। मृतक के परिजन दीपक, मौसा रमेश व दोस्त सुनील ने पुलिस पर संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि जुई चौकी इंचार्ज द्वारा नरेंद्र को झूठे मामले में फंसाया गया। उसे 16 सितंबर को पुलिस उठाकर लाई। दो दिन तक अवैध हिरासत में रखकर उसे बेरहमी से पीटा गया। दीपक ने कहा कि नरेंद्र की गर्दन व पैर पर नीले निशान हैं, जिससे साफ है कि उसे पीटा गया।

लड़की पर लगाया, लोगों को ब्लैकमेल करने का आरोप

मृतक के जीजा दीपक ने कहा कि आरोप लगाने वाली युवती पांच बार युवकों के साथ फरार हो चुकी है। वह आए दिन किसी ना किसी को अपने जाल में फंसा कर ब्लैकमेल कर रुपये ऐंठती है।

पुलिस को कर रहे हैं बदनाम

आरोपी ने नरेंद्र के खिलाफ पुलिस ने बयान दिए थे। जिसके आधार पर पुलिस ने कार्रवाई कर उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। उसके साथ किसी तरह की कोई मारपीट नही हुई। पुलिस को केवल बदनाम करने के लिए आरोप लगाए जा रहे है।-सतपाल, इंचार्ज जुई चौकी भिवानी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे