Patrika Hindi News

> > > > Action against illegal construction in bhopal

5 घंटे, 3 जेसीबी, 100 अधिकारी... मालिक देखता रहा और गिरा दी इमारत

Updated: IST mp nagar
करीब पांच घंटे चली इस कार्रवाई में नगर निगम की तीन जेसीबी, 100 से अधिक अधिकारी-कर्मचारी जुटे।

भोपाल। अवैध निर्माण पर गुरुवार को एक बार फिर नगर निगम का हथौड़ा चला। इस बार अमले ने एमपी नगर जोन-2 सरगम टॉकीज के पास बनी दो मंजिला इमारत को जमींदोज कर दिया। करीब पांच घंटे चली इस कार्रवाई में नगर निगम की तीन जेसीबी, 100 से अधिक अधिकारी-कर्मचारी जुटे।
निगम का अमला सुबह 10.30 बजे यहां पहुंच गया था। जैसे ही इसकी भनक मकान मालिक अमित वाधवानी और उदय वाधवानी को लगी वे भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने गलत कार्रवाई का आरोप लगाते हुए नगर निगम अपर आयुक्त एमपी सिंह और सिटी प्लानर सुनीता सिंह से रोकने को कहा। वे कोर्ट स्टे का दावा करते रहे। लेकिन, कार्रवाई जारी रही।

निरस्त हो चुकी है अनुमति
अपर आयुक्त एमपी सिंह ने बताया कि 448 स्क्वायर मीटर के प्लॉट पर ऊपर नीचे करीब 600 स्क्वायर मीटर पर सात दुकानों का निर्माण किया गया था। इस निर्माण के संबंध में दी गई अनुमति जांच के दौरान शासन के आदेश के बाद 2008 में निरस्त की जा चुकी है। एेसे में निर्माण अवैध होने के कारण इसे तोडऩे की कार्रवाई की गई है। वाधवानी ने कोर्ट से स्टे होने की बात कही जरूर थी, लेकिन वे कोर्ट का स्टे दिखा नहीं पाए।

दो दर्जन सुराख किए
निगम का अमला सुबह करीब 10.30 बजे मौके पर पहुंचा। अमले को देखते ही वहां अफरा-तफरी मच गई। कार्रवाई शुरू हुई तो दुकानदारों ने अपना सामान समेटा। घंटेभर में दुकानें खाली होने के बाद दुकानों में घुसी जेसीबी ने अंदर की दीवारों और 10 पिलर्स में छेद करके उन्हें कमजोर किया। इसके बाद बाहर के पिलर्स में भी दो दर्जन से अधिक छेद किए।

यहां भी हुई कार्रवाई
जोन टू में ही अमले ने बरामदे में अतिक्रमण कर बनाई गई होटल रॉयल विलास होटल की सीढि़यां भी तोड़ दीं। यह होटल भाजपा नेता सतीश विश्वकर्मा की है। इसके बाद अमला एमपी नगर जोन वन स्थित राजपाल होण्डा वालों के यहां पहुंचा। अमले ने कमजोर बिल्डिंग खाली करने को कहा, शोरूम संचालक ने विनती पर दो दिन का समय दिया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे