Patrika Hindi News

> > > > Benefits of Pushya Nakshatra

Photo Icon पुष्य नक्षत्र पर बन रहा है अनोखा योग, शॉपिंग करेंगे तो रहेंगे फायदे में

Updated: IST market shine in pushya nakshatra
सत्ताइस नक्षत्रों में आठवां नक्षत्र पुष्य को माना जाता है। सभी नक्षत्रों में सबसे उत्तम और अतिशुभ नक्षत्र।

भोपाल। रविवार 25 सिम्बर को पुष्य नक्षत्र आ रहा है। इस शुभ मौके के लिए बाजार तैयार हो चुके हैं। लेकिन बहुत से लोग हैं जो इस खास अवसर का अर्थ नहीं जानते और अक्सर शुभ शॉपिंग का मौका गवां देते हैं।

सत्ताइस नक्षत्रों में आठवां नक्षत्र पुष्य को माना जाता है। सभी नक्षत्रों में सबसे उत्तम और अतिशुभ नक्षत्र। पुष्य का अर्थ है पोषण करने वाला, ऊर्जा और शक्ति प्रदान करने वाला। मान्यता है कि पुष्य, पुष्प से ही बना है जिसका अर्थ होता है शुभ, सुंदर और सुख संपदा देने वाला। पुष्य नक्षत्र का स्वामी शनि ग्रह होता है। इस नक्षत्र में जिसका जन्म होता है वे दूसरों की भलाई के लिए सदैव तत्पर रहते हैं, इन्हें दूसरों की सेवा और मदद करना अच्छा लगता है और ऐसे व्यक्ति अपनी मेहनत और लगन से जीवन में आगे बढ़ते हैं। इसके अलावा किसी भी नए सामान की खरीदारी, सोना, चांदी की खरीदारी के लिए पुष्य नक्षत्र को सबसे पवित्र माना जाता है। पुष्य नक्षत्र में की गई खरीदारी और शुरू किए गए व्यापार में सदैव बरकत होती है, अपार धन की प्राप्ति होती है. क्योंकि पुष्य नक्षत्र के दौरान धन के देवता चंद्रमा हमेशा अपनी राशि ककज़् में रहते हैं और धन का प्रबल योग बनाते हैं।

पुष्य नक्षत्र के तीन प्रावधान
शास्त्रों में पुष्य नक्षत्र में पूजा कर पुण्य कमाने के तीन प्रावाधान बताएं गएं हैं। इसमें सबसे पहली विधि फूलों के द्वारा संपन्न होती है। जिसमें कुछ खास फूलों की मदद से जातक पुष्य नक्षत्र के शुभ फल का लाभ उठा सकते हैं। ठीक उसी तरह पुष्य नक्षत्र में शिव-पार्वती, इंद्र और बाबा भैरव की पूजा से धन-संपत्ति, वैभव और सुखी दांपत्य जीवन का आशीर्वाद प्राप्त हो सकता है। इतना ही नहीं पुष्य नक्षत्र के दौरान ग्रहों, से जुड़े कुछ खास विधि-विधान को करके आप अपने जीवन को सदा के लिए भय मुक्त बना सकते हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे