Patrika Hindi News

> > > > bhopal supreme court orders national anthem should be played in all cinema halls across the country before movie starts

फिल्म से पहले बजेगा राष्ट्रगान, इस शख्स ने लगाई थी SC में पिटीशन

Updated: IST sc orders national anthem
सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को ''जन गण मन'' से जुड़ा एक अहम आदेश दिया है। कोर्ट ने देशभर के सभी सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्र गान बजाना अनिवार्य कर दिया है। भोपाल के एक व्यक्ति ने इस मुद्दे पर याचिका लगाई थी..।

भोपाल/नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को ''जन गण मन'' से जुड़ा एक अहम आदेश दिया है। कोर्ट ने देशभर के सभी सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्र गान बजाना अनिवार्य कर दिया है। साथ ही पर्दे पर राष्ट्र ध्वज भी दिखाना जरूरी होगा तथा सभी दर्शक तिरंगे और राष्ट्र गान के सम्मान में खड़े भी होंगे। इस पूरे फैसले में एक अहम बात यह भी है कि जिस याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने यह बड़ा आदेश दिया है, वह याचिकाकर्ता भोपाल के हैं।

भोपाल के देशभक्त ने लगाई याचिका
सुप्रीम कोर्ट में यह याचिका भोपाल निवासी श्याम नारायण चौकसे ने लगाई थी। याचिका लगाने के पीछे उनका देशभक्ति का जज्बा है।

गांधी की समाधि देख हुए थे आहत
राजधानी निवासी श्याम नारायण चौकसे इससे पहले भी देशभक्ति की मिसाल पेश कर चुके हैं। उन्होंने इससे पहले भी एक याचिका लगाई थी। उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि की दूर्दशा देख यह याचिका लगाई थी। चौकसे की इस याचिका ने भी देशभर में काफी सुर्खिया बटौरी थी।

याचिका में चौकसे ने क्या कहा था
1. चौकसे ने अपनी याचिका में कहा था कि किसी भी व्यावसायिक गतिविधि के लिए राष्ट्रीय गान के चलन पर रोक होना चाहिए।
2. एंटरटेनमेंट शो में ड्रामा क्रिएट करने के लिए इसका इस्तेमाल नहीं होना चाहिए।
3.याचिका में यह भी कहा गया था कि एक बार शुरू होने पर राष्ट्रीय गान को अंत तक गाया जाना जरूरी है। बीच में बंद नहीं होना चाहिए।
4. सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई करते हुए अक्टूबर में केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था.

सुप्रीम कोर्ट ने आदेश में यह कहा-
1. राष्ट्रीय गान राष्ट्र की पहचान, राष्ट्रीय एकता और संवैधानिक देशभक्ति से जुड़ा हुआ है। अपने आदेश में कोर्ट ने कहा है कि ध्यान रखा जाए कि किसी भी व्यावसायिक हित में राष्ट्रीय गान का इस्तेमाल नहीं हो सके।
2. राष्ट्रीय गान का इस्तेमाल किसी भी तरह की गतिविधि में ड्रामा क्रिएट करने के उद्देश्य से नहीं होना चाहिए।
3. इसे वैरायटी सॉन्ग के रूप में भी नहीं गाया जा सकता है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???