Patrika Hindi News

> > > > Committee set up by the Department of Women and Child Development

महिला शक्ति का नया मॉडल तैयार, जानिए क्या सुविधाएं देने जा रही है सरकार

Updated: IST mp
प्रदेश में महिला सशक्तिकरण के लिए 'महिला शक्तिÓ का नया मॉडल बनेगा। इसके तहत जहां निजी दफ्तरों में भी यौन उत्पीडऩ रोकथाम समिति बनेगी।

भोपाल। प्रदेश में महिला सशक्तिकरण के लिए 'महिला शक्तिÓ का नया मॉडल बनेगा। इसके तहत जहां निजी दफ्तरों में भी यौन उत्पीडऩ रोकथाम समिति बनेगी। वही 18 वन-स्टॉप सेंटर खुलेंगे। दिसंबर में ही इंदौर से इसकी शुरुआत होगी। वन स्टॉप सेंटर में एक ही छत के नीचे पीडि़त महिला को हर तरह की मदद मिल सकेगी।

बुधवार को महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस ने इसका खाका प्रदेशभर के अफसरों को समझाया। सभी जिलों व संभाग के विभागीय अफसरों की बैठक लेकर चिटनीस ने कामकाज की आगामी रणनीति बताई। इसमें निर्देश दिए गए कि मौजूदा सिस्टम में सुधार के लिए बड़े बदलाव तुरंत कर दिए जाएं। चिटनीस ने अफसरों को कहा कि काम करो तभी पहचान मिलेगी। बिना काम करे अब कुछ नहीं होगा। टीम बनकर काम करो तो रिजल्ट भी अ'छे आएंगे। बैठक में सभी विभागीय योजनाओं की समीक्षा हुई। बैठक में पीएस जेएन कंसोटिया, महिला सशक्तिकरण आयुक्त पुष्पलता सिंह व अन्य अफसर मौजूद रहे।

होंगे पांच बड़े बदलाव
0 हर निजी दफ्तर में यौन उत्पीडऩ रोकथाम समिति बने, ताकि महिलाओं का यौन उत्पीडन रुके। अभी सिर्फ सरकारी दफ्तरों में है।
0 शौर्या दल अब किस्से कहानियों की जगह वास्तविक वीरता वाले उदाहरणों को अपनाएंगे।
0 लाड़ली लक्ष्मी में सर्टिफिकेट बिटिया की डिलीवरी के वक्त देना होगा।
0 तलाक के प्रकरणों में पीडि़त महिलाओं के हर केस का फॉलोअप विभाग के स्तर से होगा। इसमें पुलिस से प्रतिवेदन भी लिया जाएगा।
0 वन-स्टॉप सेंटर खुलेंगे। इंदौर में पहला सेंटर दिसंबर में ही शुरू होगा। कुल 18 सेंटर रहेंगे। इसमें एक ही जगह हर मदद मिलेगी।

मंत्री खुद तौलेंगी बच्चों का वजन
मंत्री चिटनीस खुद कुपोषित बच्चों का वजन तौलने व प्रकरणों को देखने जाएंगी। अगले तीन महीने में हर कुपोषित बच्चे का वजन तौलने का लक्ष्य है। वरिष्ठ अफसरों को मैदानी निरीक्षण करना होंगा। कुपोषित बच्चों को देखने जाना होगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???