Patrika Hindi News

Heart attack ka ayurvedic ilaj- दिल की बीमारी का इलाज करने में कारगर हैं ये आयुर्वेदिक इलाज

Updated: IST Heart Disease
अगर आप भी दिल की बीमारी से जूझ रहे हैं तो परेशान ना हों क्योंकि कई ऐसे आयुर्वेदिक इलाज भी हैं जिससे दिल की बीमारी का इलाज किया जा सकता है।

भोपाल। मौजूदा समय में जो बीमारी सबसे ज्यादा तेज़ी से बढ़ रही है वो है दिल की बीमारी। लगातार बढ़ रहा तनाव और लाइफस्टाइल लोगो के दिलों पर सबसे ज्यादा असर डाल रही है। यही वजह है कि सबसे ज्यादा मौतें भी दिल की बीमारी के ही कारण होती है।

दिल की बीमारी पता चलते ही ना जाने कितनी ही दवाईयां शुरू हो जाती हैं जिसके कारण लोग अकसर परेशान भी हो जाते हैं। अगर आप भी दिल की बीमारी से जूझ रहे हैं तो परेशान ना हों क्योंकि कई ऐसे आयुर्वेदिक इलाज भी हैं जिससे दिल की बीमारी का इलाज किया जा सकता है।

ये हो सकती हैं दिल की बीमारियां
1. दिल की मांसपेशी फैल जाना : कई बार दिल की मांसपेशियों के ज्यादा काम करने के कारण ये मांसपेशियां फैल जाती हैं और बीमारी का रूप ले लेती हैं। इस बीमारी के होने से अकसर मरीज़ को हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी बनी रहती है।

2. दिल में दर्द होना : कई बार दिल में कुछ समय के लिए दर्द होना शुरू हो जाता है। ये दर्द दिल की धमनी के अंदर(इंटरनल लाईनिंग इनटाइमा) के नीचे फैट जमने के कारण होता है जिससे कि दिल के अंदर खून और ऑक्सीजन दोनों ही नहीं पहुंच पाती है। इसके कारण दिल में अचानक से 3-4 मिनट के लिए अचानक से दर्द होने लगता है।

3. धमनियों का फटना : इस बीमारी में दिल की धमनियों काफी कमज़ोर हो जाती हैं जिसके कारण हल्का भी दबाव पड़ने पर ये फट जाती हैं। अकसर देखा जाता है कि इस बीमारी से जूझ रहे मरीज़ों की मृत्यु हो जाती है।

4. दिल का आकार बढ़ जाना : जब हमारे दिल में दूषित द्रवों की मात्रा बढ़ जाती है तो हमारे दिल पर बहुत दबाव पड़ने लगता है जिससे दिल का आकार बढ़ जाता है। इसके अलावा दिल के कमज़ोर होने, हाई ब्लड प्रेशर होने और डायबिटीज़ के कारण भी कई बार दिल का आकार बढ़ जाता है।

5. पेलीपिएशन ऑफ हार्ट : जब किसी व्यक्ति को ये बीमारी होती है तो उसकी दिल की धड़कनें बहुत ही तेज़ हो जाती हैं और हाथ-पैर ठंडे पड़ने लगते हैं। इसका मुख्य कारण दिल की मांसपेशियों का कमज़ोर होना होता है।

ये घरेलू इलाज रखेंगे दिल की बीमारी से दूर
अगर आप किसी भी तरह की दिल की बीमारी का शिकार नहीं बनना चाहते हैं तो ये घरेलू नुस्खे अपनाए। इससे आप दिल की बीमारी से तो दूर रहेंगे ही, इसके साथ ही आप स्वस्थ्य भी रहेंगे।

1. रोज़ाना खाने में सरसों के तेल का इस्तमाल जरूर करें। इससे आप फैटी एसिड से दूर रहेंगे जो कि दिल की बीमारी के जोखिम को 70 प्रतिशत तक कम कर देता है।

2. रोज़ सुबह खाली पेट कच्चा लहसुन खाने से पूरे शरीर में खून का संचार सही तरीके से होता है। इसके साथ ही इससे हमारा दिल मज़बूत बनता है और इससे कोलेस्ट्रॉल भी कम होता है।

3. रोज़ाना एक चम्मच शहद खाने से दूर की बीमारियां दूर रहती हैं।

4. आंवले का मुरब्बा भी दिल की बीमारी को दूर रखने में काफी मदद करता है।

5. सेब का जूस हमारे दिल को काफी हेल्दी बनाता है और साथ ही दिल की बीमारियों को दूर रखता है।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???