Patrika Hindi News

अब 'म्यूज़ियम थैरेपी' से होगा इलाज, जानें इसकी खासियत

Updated: IST museum
म्यूज़िक थैरेपी के बारे में तो सब जानते हैं कि म्यूज़िक किसी भी बीमारी को दूर करने में कितना कारगर साबित होता है लेकिन एमपी में पहली बार वृद्ध लोगों और मानसिक रूप से बीमार लोगों के लिए म्यूज़ियम थेरेपी की शुरुआत होने जा रही है।

भोपाल। म्यूज़िक थैरेपी के बारे में तो सब जानते हैं कि म्यूज़िक किसी भी बीमारी को दूर करने में कितना कारगर साबित होता है लेकिन एमपी में पहली बार वृद्ध लोगों और मानसिक रूप से बीमार लोगों के लिए म्यूज़ियम थेरेपी की शुरुआत होने जा रही है।

इस थैरेपी की शुरुआत भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर और संरक्षणवादियों द्वारा की जा रही है जिससे कि मरीज़ों को जल्द से जल्द ठीक किया जा सके। इस थेरेपी के अंतर्गत एक ही बीमारी से जूझ रहे लोगों को इलाज के लिए हेरिटेज म्यूज़ियम ले जाया जाएगा।

संभावना जताई जा रही है कि संरक्षणवादी गांधी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों के साथ इस साल अपना पहला टूर करेंगे। शहर की हेरिटेज संरक्षणवादी पूजा सक्सेना ने समुदायों के स्वास्थ्य, विशेष रूप से मानसिक विकार वाले वृद्ध रोगियों के लिए और भलाई में योगदान देने के लिए हेरिटेज म्यूज़ियम की भूमिका को प्रस्तावित किया है। इस थेरेपी का इस्तेमाल लोगों की लाइफस्टाइल चॉइस के माध्यम से उनकी हेल्थ के लिए ज़िम्मेदारी लेने और उनके व्यक्तिगत मूल्यों का फिर से आकलन करने के लिए किया जा रहा है।

ऐसे होता है फायदा
सक्सेना ने इस थेरेपी के बारे में बताया कि इसका सबसे बड़ा फायदा ये है कि म्यूज़ियम औऱ हेरीटेज वाली जगहों पर जाकर बुजुर्ग अपने अतीत के साथ उनसे जुड़ जाते हैं जिससे उनका खोया हुआ कॉंफिडेंस वापस आता है और वह जल्दी ठीक हो जाते हैं। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि इस थैरेपी में सबसे अहम रोल ट्रेन्ड प्रोफेशनल का होता है। उन्होंने बताया कि ये देखा गया है कि इस थैरेपी के 5 से भी कम सेशन में (लगभग 3 घंटे अधिकतम) मरीजों में सुधार दिखने लगता है।

डॉ. राजीव सिंह का कहना है कि ये थैरेपी भी मेडिकल प्रोफेशन से ही प्रेरित है। अब मेडिकल भी दवाओं के अलावा इलाज के नए-नए तरीकों को आज़मा रहा है। वहीं जीएमसी के एचओडी साइकैट्रिस्ट, डॉ. आर एन साहू ने इस कदम की सराहना करते हुए कहा कि ये थैरेपी एलज़ाइमर के मरीज़ों के लिए बहुत ही कारगर साबित होने वाली है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???