Patrika Hindi News

यहां मनचले करते हैं गंदी बात, लव बर्ड्स का रहता है डेरा

Updated: IST Romantic Places,Bhopal,couples park,best romantic
इस पार्क में मजनूं, प्रेमी जोड़े, शराबी और असामाजिक तत्व किसी भी वक्त मिल जाएंगे। इनके कारण संभ्रांत लोगों को जाने में हिचक और शर्मिंदगी होने लगी है। पार्क का निगहबान सीपीए भी कुछ नहीं कर पा रहा है।

दिनेश भदौरिया. भोपाल/कोलार. कोलार के इकलौते स्वर्ण जयंती पार्क में जाना असुरक्षित है। इस पार्क में मजनूं, प्रेमी जोड़े, शराबी और असामाजिक तत्व किसी भी वक्त मिल जाएंगे। इनके कारण संभ्रांत लोगों को जाने में हिचक और शर्मिंदगी होने लगी है। पार्क का निगहबान सीपीए भी कुछ नहीं कर पा रहा है। सिक्योरिटी पोस्ट की खिड़कियां, दरवाजे भी लोग उखाड़ ले गए हैं। यही वजह है कि गत सालों में यहां पांच व्यक्ति जान दे चुके हैं। जाहिर है यह पार्क असामाजिक तत्वों के साथ ही आत्मघाती कदम उठाने वालों के लिए मुफीद जगह साबित हो रही है।

सूत्रों का कहना है कि पार्क के गार्ड को सेट कर लो तो बिना डिस्टर्बेन्स मौज-मस्ती की जा सकती है। ट्री हाउस को भी क्षतिग्रस्त कर दिया है। यूं तो पार्क में कुत्ते तक प्रतिबंधित हैं, लेकिन इसमें सांड घूमते रहते हैं। पार्क की फेंसिंग टूटी है, जिससे कई जगह से प्रवेश किया जा सकता है। लोग अपने कुत्ते, दोपहिया और चार पहिया वाहन अंदर ले जाते हैं। कई लोग यहां से पेड़ काटकर ले जाते हैं। शाहपुरा सी सेक्टर से शाहपुरा थाना, रोहित नगर की ओर जाने वाली रोड पर पार्क में गेट नहीं है। बताया गया कि एक गेट बनवाया है, लेकिन अभी तक लगा नहीं।

रात-दिन दारूबाजी
पार्क खुलने का समय सुबह छह बजे से 10 बजे और शाम चार से सात बजे तक है। इसके साथ पार्क में गंदगी फैलाना, शराब पीना, धूम्रपान करना, कुत्तों को घुमाना व निर्धारित समय के अलावा प्रवेश वर्जित है। असलियत में यहां सब वर्जनाएं शिथिल हैं।

Bhopal

लव बर्ड्स का डेरा
पार्क में कॉलेज स्टूडेंट्स और अन्य प्रेमी युगल प्रतिबंधित समय में यहां-वहां मौज-मस्ती करते हैं। बताया गया है कि गार्ड को सेट कर लो तो प्रतिबंधित समय में जो मर्जी हो करते रहो, कोई टोकने वाला नहीं।

इस पार्क में शाहपुरा, चूना भट्टी व कोलार क्षेत्र के लोग सैर करने आते हैं। पार्क में असामाजिक गतिविधियों पर सख्ती होनी चाहिए। यहां राष्ट्रीय पक्षी मोर को भी खतरा है।
आदित्य दुबे, सी सेक्टर, शाहपुरा
वन विभाग की गश्त के साथ यहां पुलिस की रेगुलर गश्त भी सुनिश्चित की जानी चाहिए। इससे पार्क और वन्यजीवों की सुरक्षा होगी।
राजेश पटेल, तिलक नगर
इस तरह की गतिविधियों से माहौल खराब होता है। महिलाएं और बच्चियां फिर पार्क में जाने से डरती हैं। सुरक्षा इंतजाम बढ़ाने चाहिए।
पंकज केला, , कोलार
कुछ दिन पहले एक युवक की लाश पार्क में पेड़ से बरामद की गई थी। पुलिस समय-समय पर चेकिंग करती है।
अवधेश सिंह भदौरिया, थाना प्रभारी
गेट को रिपेयर कराया जा रहा है। पार्क में कई जगह से प्रवेश के रास्ते हैं, जिन्हें दीवार और फेंसिंग के जरिए बंद करने की व्यवस्था की जा रही है।
सुदीप सिंह, सीसीएफ, सीपीए

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???