Patrika Hindi News

MP में फेल हो रहे नसबंदी के ऑपरेशन, तीन साल में संख्या 4 हज़ार के पार

Updated: IST operation
जहां एक तरफ सरकार द्वारा परिवार नियोजन पर ज़ोर दिया जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ पिछले तीन सालों में नसबंदी के चार हज़ार से भी ज्यादा केस फेल हो चुके हैं।

भोपाल। जहां एक तरफ सरकार द्वारा परिवार नियोजन पर ज़ोर दिया जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ पिछले तीन सालों में नसबंदी के चार हज़ार से भी ज्यादा केस फेल हो चुके हैं। इसी से इस बात का अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि परिवार नियोजन को कितनी गंभीरता से लिया जा रहा है। यही वजह है कि अब एमपी की गिनती दूसरे राज्यों की तरह लापरवाही बरतने वाले राज्यों में की जाने लगी है।

ये चौंका देने वाला खुलासा स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के द्वारा जारी की गई रिपोर्ट में हुआ है। इस रिपोर्ट में यह पता चला है कि पिछले तीन सालों में नसबंदी के ऑपरेशन फेल होने के 174 मामले सामने आ चुके हैं। आपको बता दें कि इन आंकड़ों में पुरुष और महिलाओं की अलग-अलग संख्या का जिक्र नहीं किया गया है।

बढ़ रहे हैं नसबंदी के मामले
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक नसबंदी के ऑपरेशन के फेल होने के केस पिछले तीन सालों में बढ़ते ही जा रहे हैं। जहां साल 2014 में इनकी संख्या 927 थी, वहीं साल 2016 में यह आंकड़े बढ़कर 1683 हो गई है। बाकी राज्यों में पिछले दो साल के समय में इतना इजाफा नहीं देखा गया है। अगर हम तीन सालों की बात करें तो यह आंकड़े बढ़कर 4027 हो चुके हैं।

हर महीने हो रही एक मौत
प्रदेश में सिर्फ असफल हो रहे नसबंदी के ऑपरेशन ही नहीं चिंताजनक हैं, बल्कि इस दौरान बरती जा रही असावधानी के कारण हो रही मौतें भी चिंता का कारण बनती जा रही है। आपको बता दें कि नसबंदी के ऑपरेशन के समय लापरवाही के कारण हो रही मौतों में एमपी पांचवे स्थान पर है। पिछले तीन सालों में इसके कारण करीबन 37 मौतें हो चुकी हैं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???