Patrika Hindi News

उमा भारती ने MP में घोषित किया अपना सियासी उत्तराधिकारी, इन्हें मिलेगी सत्ता

Updated: IST   uma bharti, shivraj singh chouhan, mp politics,
मप्र में किसी ना किसी को मुझे आगे बढ़ाना था। जैसे मैं सबसे नहीं मिल पाती हूं इसलिए वो मिले लोगों को इस भाव से मैंने कहा।

भोपाल। केंद्रीय मंत्री और मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती उत्तर प्रदेश चुनाव से निपटने के बाद सोमवार को पहली बार भोपाल पहुंची। यहां उन्होंने वो घोषणा कर डाली, जिसका लोगों को लंबे समय से इंतजार था। उन्होंने मध्यप्रदेश में अपना राजनीतिक उत्तराधिकारी घोषित कर दिया। इतना ही नहीं, इशारों-इशारों में योगी आदित्यनाथ और सीएम शिवराज सिंह चौहान को भी नसीहत दे डाली। आइए हम बताते हैं कि कौन है एमपी में उमा का उत्तराधिकारी...

कभी ओएसडी थे, आज उत्तराधिकारी
उमा ने अपना उत्तराधिकारी कभी अपने ओएसडी रहे आईआरएस लोकेश लिल्हारे को बनाया है। उमा ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि लोकेश अभी नौकरी में हैं, लेकिन फिर भी आपकी सेवा करेंगे और जरूरत पड़ी तो नौकरी छोड़कर चुनाव लड़कर जनता के लिए मैदान में कूदेंगे।

अब भीड़ से ऊब चुकी हूं
उमा ने यह भी कहा कि उन्होंने लोकसभा चुनाव (2014) के दौरान चुनाव ना लडऩे की इच्छा भी जाहिर की थी लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर झांसी से चुनाव लड़ा। उमा बोली कि छह साल की उम्र से प्रवचन कर रही है और तब से भीड़ उन्हें घेर लेती थी लेकिन अब शायद उनके अंदर का टॉरलेंस कम हो गया है और भीड़ से ऊब चुकी हूं।

लोकेश ही उत्तराधिकारी इसलिए
उत्तराधिकारी के तौर पर सिर्फ लोकेश को ही चुने जाने को लेकर उमा बोली कि ऐसे तो मेरे सभी उत्तराधिकारी है लेकिन जो व्यक्तित्व लोकेश का है मुझे ऐसे ही किसी की तलाश थी। उमा ने कहा जब मैं लोकेश के उम्र की थी तब मेरे अंदर भी वहीं गुण थे। उन्होंने कहा यहां तक बीजेपी छोडऩे के बाद दोबारा ज्वाइन करने के लिए भी लोकेश ने ही मुझे कहा था।

कौन है लोकेश?
भारतीय राजस्व सेवा के 2006 बैच के अधिकारी लोकेश लिल्हारे वर्तमान में उमा भारती के ओएसडी हैं। इससे पूर्व वे नागपुर और मुंबई में बतौर ज्वाइंट कमिश्नर काम कर चुके है। मूलत: बालाघाट के रहने वाले लोकेश उमा भारती से शुरू से ही करीबी बताए जाते हैं। यहां तक कि उन्होंने बालाघाट में अपनी राजनीतिक जमीन तलाशना भी शुरू कर दी है। वर्ष 2016 में वे अपने गृह जिले के दौरे पर गए तो लोधी छात्रावास पहुंचे और समाज के पदाधिकारियों से मुलाकात की।

उमा ने जो मायने बताए
अपने निवास पर पत्रकारों से रूबरू उमा भारती से लोकेश को उत्तराधिकारी बनाने पर सवाल हुआ तो उन्होंने जवाब सीधा ना देते हुए कहा कि वे लोधी समाज के जिस कार्यक्रम में गई थीं वहां देशभर से लोग आए थे। किसी भी परेशानी के वक्त सभी उम्मीद रखते हैं कि वे सीधे मुझसे मिले। उनके लिए मैंने यह बात कही। बाकि लोकेश मप्र का है। मप्र में किसी ना किसी को मुझे आगे बढ़ाना था। जैसे मैं सबसे नहीं मिल पाती हूं इसलिए वो मिले लोगों को इस भाव से मैंने कहा। जब हम उत्तराधिकारी की बात करते हैं तो जिम्मेदारी की बात करते हैं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???