Patrika Hindi News

ट्रेनों के आते ही बंद कर देते हैं वॉटर कूलर से पानी की सप्लाई

Updated: IST pani
पानी माफिया के कब्जे में है स्टेशन पर पानी की सप्लाई

भोपाल. भोपाल रेलवे स्टेशन पर पानी की सप्लाई पूरी तरह से माफिया के कब्जे में है। रेलवे कर्मचारियों की मिलीभगत से ये माफिया इतने हावी हो चुके हैं कि प्यास से परेशान यात्रियों को पानी खरीदने पर मजबूर कर देते हैं। रेलवे कर्मचारियों और पानी माफिया का गठजोड़ इतना मजबूत है कि ट्रेन के स्टेशन पर पहुंचते ही वॉटर कूलर से पानी की सप्लाई ही बंद कर दी जाती है। गर्मी से परेशान यात्री को मजबूरी में बोतलबंद पानी खरीदना पड़ता है। सोमवार को पत्रिका ने जब मामले की पड़ताल की तो स्टेशन पर एेसे ही हालत मिले।

स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक पर यह स्थिति सबसे ज्यादा रहती है। प्लेटफॉर्म नंबर एक पर गार्ड लॉबी के पास दो वॉटर कूलर लगे हैं। साथ ही एक वॉटर वेंडिंग मशीन भी इसके बगल में लगाई गई है, लेकिन ट्रेनों के आने के पहले ही इन वॉटर कूलर से पानी की सप्लाई बंद की दी जाती है। खासकर कुशीनगर एक्सप्रेस, गोरखुपर लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस, अमृतसर एक्सप्रेस जैसी गाडि़यों के दौरान यह हरकत ज्यादा की जाती है। लंबी दूरी की टे्रनों के साथ ही इनका यहां आने का समय सुबह 11 से 03 बजे के बीच है। एेसे में ठीक दोपहरी में ये ट्रेने स्टेशन पर पहुंचती हैं जिसमें यात्री गर्मी और प्यास से बेहाल रहते हैं। प्लेटफॉर्म नंबर 02 और 03 का भी कमोबेश यही हाल है।

12 वॉटर वेंडिंग मशीनों में सिर्फ 4 ही हो पाईं शुरू

गर्मी का पूरा सीजन लगभग खत्म होने को है, लेकिन भोपाल रेलवे स्टेशन पर एक तिहाई वॉटर वेंडिंग मशीने भी नही शुरू हो सकीं। यहां 12 वॉटर वेंडिंग मशीनें लगाई जानी हैं, लेकिन अभी तक केवल चार मशीने ही शुरू हो पाई हैं। इनमें प्लेटफॉर्म नंबर पर एक और प्लेटफॉर्म नंबर 02 पर 03 मशीने शुरू हो पाई हैं।

यह है डेटा

भोपाल स्टेशन से गुजरने वाली कुल टे्रनें 160 से 180

भोपाल स्टेशन पर प्रतिदिन आने वाले यात्री 1 लाख

वर्जन--

हां यह सही है प्लेटफॉर्म नंबर एक पर लगा एक वॉटर कूलर बंद मिला है। इसके लिए अधिकारियों को लिखकर शिकायत की गई है। यह भी दिखवाया जा रहा है कि कोई हरकत कर जानबूझकर तो बंद नही कर देता।

प्रदीप कुमार, स्टेशन सुप्रिंटेंडेंट भोपाल

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???