Patrika Hindi News

अपनों के लिए अंगदान करने में पुरूषों से आगे हैं महिलाएं, जानिए क्या कहते हैं आंकड़े

Updated: IST bhopal

भोपाल. 'बचपन में मां की गोद में खेलने वाले रोहन (परिवर्तित) की आंख में जब आंसू आते तो मां उसे कलेजे से लगा लेती, लेकिन रोहन जब बड़ा हुआ तो कुछ खराब आदतों की वजह से खुद तो बिगड़ गया। मां ने रोका तो उसे भी दुत्कार दिया। तीन साल बाद जब उसकी किडनी खराब हुई तो मां ही आई अपने लाल के लिए किडनी तक दान कर दी। परिवार और रिश्तों की डोर को बचाने में महिलाओं का कोई सानी नही है, चाहे उसकी जान ही दांव पर क्यों न लग जाए।

ये हकीकत बयां कर रहे हैँ प्रदेश में अंगदान के आंकड़े अंग ट्रंासप्लांट के कुुल मामलों में 65 फीसदी दान करने में मां, बहन, बेटी, पत्नी ही आगे आई हैं। पिछले साल जनवरी से दिसंबर तक प्रदेश के अस्पतालों में 51 किडनी ट्रांसप्लांट हुए। इसमें 35 बार महिलाओं ने अपनी किडनी परिवार के लिए दान कर दी। डॉक्टरों के मुताबिक महिलाएं खुद की परवाह कम और अपने परिजन की ज्यादा करती हैं।

क्यों होता है एेसा

मनोचिकित्सक डॉ. सत्यकांत त्रिवेदी इसके पीछे सामाजिक और तकनीकी कारण बताते हैं। हमारे देश में शुरू से माना जाता है कि परिवार को बचाने की जिम्मेदारी महिलाओं पर ही होती है। इसलिए अंगदान के मामले में महिलाएं ही अव्वल रहती हैं।

इसके अलावा महिलाओं को लगता है कि घर को चलाने के जिम्मेदारी पुरुषों पर होती है, इसके लिए उन्हें ज्यादा शारीरिक श्रम करना पड़ता है। इसलिए अंगदान जैसी जिम्मेदारी वो खुद उठाती हैं।

कैसे दान कर सकते हैं किडनी

हॉस्पीटल ट्रांसप्लांट कमेटी से अनुमति लेने के बाद नजदीकी रिश्तेदार को किडनी दान कर सकते हैं। वहीं अन्य रिश्तेदारों के लिए चिकित्सा शिक्षा की विशेष कमेटी से अनुमति लेनी होती है। अंगदान करने वाले व्यक्ति के बयान की वीडियो रिकॉर्डिंग भी कार्यपालिक दंडाधिकारी के सामने होती है।

MUST RAED: कलाम ने जब दिया था कम्प्यूटर पर हिन्दी में काम करने का मंत्र

किन-किन अंगों का दान

हमारे देश में लिवर, किडनी और हार्ट के ट्रांसप्लांट होने की सुविधा है। कुछ मामलों में पैनक्रियाज भी ट्रांसप्लांट हो जाते हैं, लेकिन इनके अलावा दूसरे अंगों का भी दान किया जा सकता है

दान किए जाने वाले अंग

गुर्दे (किडनी), दिल (हार्ट), यकृत (लिवर), अग्नाशय (पैनक्रियाज), छोटी आंत (इन्टेस्टाइन) और फेफड़े (लंग्स) त्वचा (स्किन), बोन और बोन मैरो, आंखें (कॉर्निया)

परिवारजनों का अंगदान ब्योरा

पत्नी - 16

मां - 10

बहन - 6

साली - 1

नाती - 1

बेटी - 1

भाई - 4

बेटा - 2

पिता - 2

पति - 1

अंकल - 1

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???