Patrika Hindi News

> >

यामाहा ने ट्रेनिंग स्कूल के लिए एएसडीसी के साथ की भागीदारी

Updated: IST India Yamaha
यामाहा ट्रेनिंग स्कूल के माध्यम से वंचित एवं गरीब समुदायों के कम पढ़े लिखे युवाओं, बीच में ही पढ़ाई छोड़ चुके युवाओं और विशेष रूप से लड़कियों को प्रशिक्षण दिया जाता है

नई दिल्ली। इंडिया यामाहा मोटर प्राइवेट लिमिटेड (आईवाईएम) ने यामाहा ट्रेनिंग स्कूल में संचालित अपने पाठ्यक्रम की सम्बद्धता के लिए ऑटोमोटिव स्किल्स डेवलपमेन्ट काउन्सिल (एएसडीसी) के साथ करार किया है। वाईएमआईएस के दस वर्षीय दृष्टिकोण (यामाहा ट्रेनिंग स्कूल) परियोजना की शुरुआत इसकी सीएसआर गतिविधि के तहत समाज में शिक्षा, रोजगार एवं उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करने के लिए की गई।

यामाहा ट्रेनिंग स्कूल के माध्यम से वंचित एवं गरीब समुदायों के कम पढ़े लिखे युवाओं, बीच में ही पढ़ाई छोड़ चुके युवाओं और विशेष रूप से लड़कियों को प्रशिक्षण दिया जाता है। साथ ही यामाहा नेटवर्क में उनके लिए नौकरी भी सुनिश्चित की जाती है। वे यामाहा से सर्टिफिकेट और बैंक से आर्थिक सहायता पाकर अपना खुद का सर्विस स्टेशन भी शुरू कर सकते हैं।

यामाहा मोटर इंडिया सेल्स प्रा लिमिटेड के प्रबन्ध निदेशक मसाकी असानो ने कहा, "वर्तमान में कौशल की बात करें तो इस दृष्टि से उद्योग जगत में बड़ा अंतराल है और बड़ी संख्या में युवा तकनीकी कौशल के अभाव के चलते बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहे हैं। ऐसे में यह मंच आर्थिक दृष्टि से कमजोर युवाओं (पुरुषों और महिलाओं) को दोपहिया वाहनों की मरम्मत एवं सर्विसिंग के लिए उद्योग जगत के मानदंडों के अनुरूप नौकरी-उन्मुख प्रशिक्षण प्रदान करेगा। हमें उम्मीद है कि एएसडीसी के साथ एसोसिएशन बहुत से लोगों को नौकरियां देकर उनके जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने में मददगार साबित होगा।"

यामाहा मोटर इण्डिया सेल्स प्रा लिमिटेड में वरिष्ठ उपाध्यक्ष (स्ट्रैटेजी एण्ड प्लानिंग) रविन्दर सिंह ने कहा, "पाठ्यक्रम की अवधि 10 महीने है, जिसे सफलतापूर्वक पूरा करने वाले छात्रों को एनएसक्यूएफ 3 और एनएसक्यूएफ 4 प्रमाणपत्र दिए जाएंगे। इसके अलावा छात्रों को यामाहा की ओर से ब्रॉन्ज सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा और यामाहा नेटवर्क में नौकरी भी मिलेगी। यामाहा प्रतिभाशाली छात्रों को छोटी वर्कशॉप स्थापित करने में मदद करेगी और छात्र उद्यमी बनने के लिए मुद्रा बैंक से ऋण भी पा सकेंगे।"

अब तक यामाहा के देश भर के 31 वाईटीएस संस्थान चालू हैं और 6 अन्य संस्थान जल्द ही खोले जाएंगे। 2017 में यामाहा ने 15 और ट्रेनिंग स्कूल खोलने की योजना बनाई है, जिसके साथ साल 2017 के अंत तक यह आंकड़ा 52 तक पहुंच जाएगा।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???