Patrika Hindi News

खत्म होगा भक्तों का इंतजार, जल्द दर्शन देंगे भगवान जगन्नाथ

Updated: IST rath yatra
भगवान के दर्शन के लिए शहर सहित दूरदराज से श्रद्धालु पहुंचेंगे।

बिलासपुर. महाप्रभु जगन्नाथ के भक्तों का इंतजार खत्म होने वाला है। जल्द ही महाप्रभु स्वस्थ्य होकर अपने भक्तों को दर्शन देंगे। स्नान पूर्णिमा के दिन से ज्वर से पीडि़त महाप्रभु भक्तों को दर्शन नहीं दे रहे हैं। ंमहाप्रभु के भक्त स्वस्थ्य होने की कामना हर रोज कर रहे हैं। भक्तों का इंतजार खत्म होने वाला है। 24 जून को नवजीवन उत्सव के बाद भक्तों को दर्शन देंगे। महाप्रभु के दर्शन के लिए ललायित भक्तों ने दर्शन के लिए उल्टी गिनती शुरू कर दी है। महाप्रभु का स्मरण कर उनकी भक्ति कर रहे है।

श्री जगन्नाथ मंदिर समिति की ओर से रेलवे स्थित श्री जगन्नाथ मंदिर में नवजीवन उत्सव व रथयात्रा उत्सव की तैयारी लगभग पूरी हो गई है। महाप्रभु जगन्नाथ के स्वस्थ होने की कामना भक्त कर रहे है। नवजीवन उत्सव के दिन 24 जून को मंदिर में ध्वज बदला जाएगा और महाप्रभु का शृंगार, पूजन कर उनकी आरती की जाएगी। इसके साथ ही महाप्रभु को 56 तरह के पकवान का भोग भी अर्पित किया जाएगा। मंदिर समिति के पुजारी पंडित गोविंद प्रसाद पाढ़ी ने बताया कि अस्वस्थ रहने पर प्रभु को सिर्फ काढ़ा व जड़ी-बूटी ही दिया जाता है। 15 दिन बाद महाप्रभु को पुन: भोजन दिया जाएगा। इस दिन भक्त भी महाप्रभु का प्रसाद ग्रहण करेंगे।

रथ खींचने है उत्सुक श्रद्धालु

महाप्रभु जगन्नाथ का रथ खीचने के लिए भक्तों में उत्साह है। रथ यात्रा उत्सव में कोई भी व्यक्ति शामिल हो सकता है। इसमें बच्चे-बड़े हर कोई प्रभु को देखता है और उनके रथ को खींचना उनके आशीर्वाद प्राप्त करने के समान होता है। इसलिए हर कोई प्रभु के रथ को खींचने के लिए उत्साहित है।

रथ बनकर है तैयार

मंदिर समिति के उपाध्यक्ष केके बेहरा ने बताया कि मंदिर में महाप्रभु के रथ यात्रा की तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। भव्य रथ तैयार हो चुका है। इसके साथ ही मौसी मां का घर भी तैयार हो गया है। अब तो बस 24 जून का इंतजार है इस दिन महाप्रभु दर्शन देंगे। इसके बाद श्री मंदिर से मौसी मां के घर जाएंगे। इस अवसर पर मंदिर में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। भगवान के दर्शन के लिए शहर सहित दूरदराज से श्रद्धालु पहुंचेंगे।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???