Patrika Hindi News

बिलासपुर के नए मास्टर प्लान को लेकर 21 लोगों ने दर्ज कराई आपत्तियां

Updated: IST master plan
इन आपत्तियों का निराकरण राजधानी में किया जाएगा। मास्टर प्लान का अंतिम प्रकाशन मार्च तक होगा।

बिलासपुर. शहर के मास्टर प्लान पर अब तक 21 लोगों ने आपत्तियां दर्ज कराई है। हालांकि इसके लिए चार दिन शेष अभी हैं। इन आपत्तियों का निराकरण राजधानी में किया जाएगा। मास्टर प्लान का अंतिम प्रकाशन मार्च तक होगा। मास्टर प्लान 2031 तक राजपत्र में प्रकाशन के बाद इस पर दावा-आपत्ति लेने की प्रक्रिया 9 दिसंबर 2016 से शुरू की गई थी। दावा-आपत्ति 16 जनवरी तक स्वीकार की जाएगी।

केवल तीन आपत्ति सुनवाई के योग्य

नए मास्टर प्लान को लेकर अब आई आपत्तियों में विभाग केवल तीन आपत्तियों को सुनवाई योग्य मानता है। इसके अलावा खसरा नंबर गलत दर्ज करने, सड़क की दिशा गलत दर्शाने, पार्क की जमीन को आवासीय प्रदर्शित करने आदि पर दर्ज कराई आपत्तियों को विभाग नीतिगत नहीं मानता। ऐसी आपत्तियों को विभाग सुनवाई योग्य नहीं मानता।

रायपुर में होगा निराकरण

बिलासपुर के मास्टर प्लान के अंतरिम प्रकाशन में प्राप्त सभी दावा-आपत्तियों को रायपुर संचालनालय भेजा जाएगा। वहां पर आपत्तियों का अवलोकन किया जाएगा। इसके बाद जिनकी आपत्तियां सुनवाई योग्य पाई जाएगी। उन्हें व्यक्तिगत सूचना दी जाएगी। फिर सुनवाई के लिए कम से कम एक सप्ताह का समय देकर बुलाया जाएगा।

शहर का दायरा 20 किमी. होगा

नए मास्टर प्लान के प्रकाशन के बाद इसका दायरा बढ़कर 20 किमी तक हो जाएगा। पुराने मास्टर प्लान में यह क्षेत्रफल लगभग 10 किमी का है।

7 वर्ष हुआ विलंब

बिलासपुर शहर का मास्टर प्लान वर्ष 2011 में प्रकाशन होना था। लेकिन यह टलते हुए अब जाकर वर्ष 2017 में प्रकाशित किया जाएगा।

नए मास्टर प्लान को लेकर अब तक 21 लोगों ने आपत्तियां दर्ज कराई हैं। इनमें तीन आपत्ति सुनवाई के योग्य है। शेष आपत्तियां सुनवाई करने के लायक नहीं है। सभी आपत्तियों को संचालनालय भेजा जाएगा।

संदीप बागड़े, संयुक्त संचालक, नगर एवं ग्राम निवेश

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???