Patrika Hindi News

> > > > bilaspur: cims committee instructed to investigate

सिम्स की जांच के लिए कमेटी बनाने के निर्देश

Updated: IST Bilaspur : show cause notice issued to Cims Hod Dr
डीन कोर्ट के सवालों का समुचित जवाब नहीं दे सके। इस पर कोर्ट ने जांच टीम गठित करने का आदेश दिया।

बिलासपुर. सिम्स प्रबंधन की लापरवाही व समय पर इलाज नहीं मिलने से दो वर्ष के मासूम की मौत मामले में सिम्स के डीन बुधवार को हाईकोर्ट में उपस्थित हुए। कोर्ट ने सिम्स की अव्यवस्था पर नाराजगी जताते हुए करते हुए डीन को खूब खरी-खोटी सुनाई। साथ ही यह पूछा कि रात में चिकित्सकीय सेवा व इमरजेंसी सेवा के लिए क्या व्यवस्था की गई है। रात में किसी मरीज की तबीयत बिगड़ती है, तो क्या प्रवधान है। उसे सुबह तक इंतजार करना होगा, रात में ही मेडिकल फैसिलिटी दी जाएगी, या नहीं। डीन कोर्ट के सवालों का समुचित जवाब नहीं दे सके। इस पर कोर्ट ने जांच टीम गठित करने का आदेश दिया। यह टीम चिकित्सकीय व्यवस्था, रात में मरीजों को दी जाने वाले इमरजेंसी सुविधा, डॉक्टरों की तैनाती के रोस्टर, रात में सिस्टर, वार्ड व्बाय व गार्ड की उपलब्धता समेत रिपोर्ट तैयार करेगी। कमेटी को यह रिपोर्ट 15 दिनों में पेश करने का आदेश दिया गया है।

जांजगीर मूढापार निवासी लल्लू यादव पिछले सोमवार को अपने बेटे के इलाज के लिए 29 अगस्त 2016 को सिम्स आया था। बच्चे को मिर्गी के झटके आने की शिकायत थी। बच्चे को शिशु वार्ड में भर्ती किया गया था। शिशु-रोग विशेषज्ञ द्वारा बच्चे के इलाज के बाद उसकी हालत सुधरने लगी थी। लेकिन 29 अगस्त की रात 3 बजे बच्चे को फिर से झटके आने लगे। हालत बिगडऩे लगी। पूछने पर परिजनों को स्टाफ ने बताया कि स्टाफ के लोग सोए हुए हैं, सुबह आना। शोरगुल सुनकर सिस्टर बाहर निकली और यह कह दिया कि डॉक्टर सुबह आएंगे, उनका बच्चा ठीक है। इसके बाद गार्ड ने उन्हें वहां से बाहर निकाल दिया। 2 घंटे बाद ही 30 अगस्त 2016 को सुबह 5 बजे बच्चे की मौत हो गई थी।

अखबार में प्रकाशित खबर पर हाईकोर्ट ने संज्ञान लेकर नोटिस जारी किया था। चीफ जस्टिस दीपक गुप्ता व जस्टिस पी सैम कोशी की युगलपीठ ने सिम्स की कार्यप्रणाली व लापरवाही पर डीन-एमएस को फटकार लगाई थी। साथ ही विस्तृत रिपोर्ट शपथ पत्र में पेश करने के निर्देश दिए थे। 25 नवंबर को सुनवाई के दौरान कोर्ट ने सिम्स प्रबंधन का जवाब संतोषजनक नहीं पाया और डीन को नोटिस जारी कर 30 नवंबर को व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होने के निर्देश दिए थे। इसके मुताबिक डीन बुधवार को कोर्ट में हाजिर हुए।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???