Patrika Hindi News

> > > > bilaspur: City buses on the lines of the metro began in Bilaspur

बिलासपुर में मेट्रो की तर्ज पर सिटी बसें शुरू, 40 रुपए में रतनपुर वो भी एसी में

Updated: IST AC City bus
रतनपुर, खूंटाघाट जाना है तो एसी बस में सामान्य बस से सिर्फ पांच रुपए अधिक देने पड़ेंगे लेकिन सफर का आनंद सामान्य बस की तुलना में ज्यादा उठा पाएंगे

बिलासपुर. शहर में मेट्रो की तर्ज पर एसी बसों का संचालन बुधवार को प्रारंभ हो गया। यदि आपको बिलासपुर से रतनपुर, खूंटाघाट जाना है तो एसी बस में सामान्य बस से सिर्फ पांच रुपए अधिक देने पड़ेंगे लेकिन सफर का आनंद सामान्य बस की तुलना में ज्यादा उठा पाएंगे। एक तो एसी बस पग-पग पर रुकते हुए नहीं चलती है दूसरे गर्मी व बरसात में पसीने की चिपचिप से मुक्ति। सुरक्षा व्यवस्था एेसी की परींदा भी पर न मार पाए। कैमरे की नजर में रहेंगे आप व आपके सामान। लक्जरी बस की तरह हिचकोले खाने से भी निजात मिलेगी। गुरुवार की दोपहर पत्रिका रिपोर्टर काजल किरण कश्यप ने नेहरू चौक से रेलवे स्टेशन तक का एसी सिटी बस में सफर का जायजा लेने के बाद बताया कि एसी बस में सफर किसी लक्जरी बस में सफर से कम नहीं। एसी बस के सभी यात्री व्यवस्था से खुश नजर आए। सभी बसों में किराया तय है। रेलवे स्टेशन से खूंटाघाट जाना हो या रेलवे स्टेशन से कोटा सभी जगह के लिए 40 रुपए प्रति यात्री के लिए किराया है जो सामान्य बसों की तुलना में पांच रुपए अधिक है।

हर जगह नहीं रुकती एसी सिटी बस

एसी सिटी बस लंबी दूरी के लिए सबसे अच्छी है। ये बसें हर चौक-चौराहें पर नहीं रुकती हैं। इसके लिए रूट तय है और उसी के मुताबिक ही चौक पर रुकती है। रेलवे स्टेशन से कोटा, रेलवे स्टेशन से खूंटाघाट, रेलवे स्टेशन से मल्हार, रेलवे स्टेशन से बिल्हा, रेलवे स्टेशन से सीपत जाती है। सभी के स्टॉपेज तय हैं और उन्हीं स्टॉपेज में रुकती हैं।

महिलाओं के लिए सिर्फ चार सीटें आरक्षित, पुरुष यात्री नहीं बैठ सकेंगे

पत्रिका की रिपोर्टर दोपहर 12 बजकर 45 मिनट पर कोटा से रेलवे स्टेशन जाने वाली एसी सिटी बस में नेहरू चौक में सवार हुईं। दस रुपए की टिकट लेकर रेलवे स्टेशन तक का सफर किया। बस में 34 सीट है जिसमें चार सीट महिलाओं के लिए आरक्षित की गई है। बस कंडक्टर के अनुसार कितनी भी भीड़ होवे महिलाओं के लिए आरक्षित सीटों पर सिर्फ और सिर्फ महिलाएं ही बैठेंगी। पुरुष यात्रियों को किसी भी दशा में बैठने की इजाजत नहीं होगी। नेहरू चौक से स्टेशन तक अन्य बसों की तुलना में मात्र 3 रुपए ही अधिक किराया है। डीजल संचालित ऑटो या सामान्य बसों में सात रुपए किराया जरूर होता है लेकिन वे चिल्हर न होने के कारण 10 रुपए ही वसूलते हैं। यही नहीं पेट्रोल संचालित ऑटो वाले 20 रुपए किराया वसूलते हैं। एेसी स्थिति में एसी बस का सफर सस्ता व आनंददायक ज्यादा है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे