Patrika Hindi News

 अपराधियों में नहीं पुलिस का खौफ- सिंहदेव

Updated: IST TS singhdev
उन्होंने कहा, 13 साल के कार्यकाल के बावजूद रमन सरकार की पुलिस और प्रशासन का अपराधियों में खौफ नहीं है। घर से कुछ दूरी पर मस्तूरी क्षेत्र में एक युवती की दुष्कर्म कर हत्या कर दी गई।

बिलासपुर. नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा कि अनाचारियों और अपराधियों में प्रशासन का खौफ नहीं है। बस्तर से लेकर पूरे प्रदेश भर में बच्चियां सुरक्षित नहीं हैं। पुलिस और प्रशासन की हर गतिविधि पर कांग्रेस द्वारा गठित समिति की नजर है, अभी पार्टी पुलिस को सहयोग कर रही है। ठोस कार्रवाई न होने पर कांग्रेस उग्र आंदोलन करेगी। सिंहदेव छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। मस्तूरी अनाचार और हत्याकांड के सवाल पर उन्होंने कहा, 13 साल के कार्यकाल के बावजूद रमन सरकार की पुलिस और प्रशासन का अपराधियों में खौफ नहीं है। घर से कुछ दूरी पर मस्तूरी क्षेत्र में एक युवती की दुष्कर्म कर हत्या कर दी गई।

छह दिन हो गए अभी तक पुलिस के हाथ हत्यारों के गिरेबान तक नहीं पहुंच सके हैं। घटना के बाद प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने तत्काल 9 सदस्यीय कमेटी का गठन कर पीडि़त परिवार और ग्रामीणों से चर्चा कर पूरे मामले की जानकारी लेने के बाद पुलिस और प्रशासन को स्थिति से अवगत कराकर आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग रखी। मरवाही विधायक द्वारा अंबिकापुर के विकास को लेकर की गई टिप्पणी पर नेता प्रतिपक्ष ने कहा, अंबिकापुर में क्या विकास हुआ है, इसका जवाब जनता देगी किसी दूसरे के प्रमाण की आवश्यकता नहीं है। कांग्रेस मजबूत है, जहां तक हार-जीत की बात है निकाय चुनाव में शासन द्वारा प्रशासन का दुरुपयोग कर चुनाव जीता जाता है।

एक सवाल के जवाब में नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि वनांचल में आज भी लोग मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं, जबकि सरकार प्रदेश के अंतिम छोर तक विकास पहुंचाने का दावा कर रही है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से पूरा देश परेशान है कांग्रेस ने पूरे देश में इसका विरोध कर प्रदर्शन किया। अब कैशलेस की बात की जा रही है इसमें जबरदस्ती बर्दाश्त नहीं की जाएगी। नगद की व्यवस्था करना सरकार का कार्य है।

पार्टी छोडऩा वाणी का व्यक्तिगत मामला

महिला कांग्रेस के राष्ट्रीय महामंत्री वाणीराव के पार्टी छोड़कर छत्तीसगढ जनता कांग्रेस में शामिल होने पर उन्होंने कहा कि वाणीराव डेढ़ साल से पार्टी से अलग लाइन पर चल रही थीं। जो लोग चुनाव के समय टिकट देने पर उनका विरोध कर रहे थे अब वह उन्हीं के साथ चली गईं, ये उनका व्यक्तिगत मामला है। जहां तक महिला कांग्रेस का सवाल है महिला कांग्रेस ने अपनी ताकत महिला कांग्रेस के सम्मेलन में और नोटबंदी में दिखा दी है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???