Patrika Hindi News

> > > > bilaspur: Marriage was pale from lack of cash, many families changed date

कैश की कमी से फीकी पड़ी शादी, कई परिवारों ने बदल दी तारीख

Updated: IST Note ban new rules of withdrawl
मांगलिक कार्यक्रम बिना पैसे के अधूरे से लगते हैं। अमीर हो या गरीब हर कोई अपने बजट के मुताबिक खर्च अवश्य करता है, लेकिन नोट बंदी ने अमीर-गरीब सभी को एक ही कतार में खड़ा कर दिया है।

बिलासपुर. 500 व 1000 रुपए के नोट बंद होने से कैश की कमी हो गई है, जिसका असर मांगलिक कार्यक्रमों पर भी देखा जा रहा है। कैश की कमी के चलते मांगलिक कार्यक्रम फीके पड़ रहे हैं। कई परिवारों ने सगाई व शादी की तारीख ही बदल डाली है। मांगलिक कार्यक्रम बिना पैसे के अधूरे से लगते हैं। अमीर हो या गरीब हर कोई अपने बजट के मुताबिक खर्च अवश्य करता है, लेकिन नोट बंदी ने अमीर-गरीब सभी को एक ही कतार में खड़ा कर दिया है। एेसे में लोग दिक्कत से बचने के लिए तारीख में परिवर्तन करने लगे है। रिश्ते भी टूट रहे हैं।

गर्मी में होगी शादी

रतनपुर निवासी चंद्रकांत साहू ने बताया कि उसकी भांजी की शादी पांच दिसंबर को करने की बात तय की गई थी, लेकिन अचानक नोट बंदी की घोषणा हुई। इसके बाद शादी की तैयारी के लिए कैश की कमी होने से शादी की तिथि में बदलाव के लिए वर व वधु दोनों पक्षों ने बात की। अब यह शादी अप्रैल माह के पहले हफ्ते में करने की बात हो रही है।

एक माह आगे बढ़ा दी तारीख

सरकण्डा निवासी अभिषेक कश्यप ने बताया कि उसके छोटे भाई की शादी नवंबर में करने की साल भर पहले से सोचा गया था। लेकिन कैश की कमी से तारीख बदलना पड़ा। कैश की कमी से शादी में कई दिक्कत होगी, यह सोचकर हमने जनवरी माह तक शादी की तारीख आगे बढ़ा दी है।

किल्लत खत्म होगी तब करेंगे शादी

पाली निवासी राजेश बैस ने बताया कि भतीजी की शादी की बात नवंबर के पहले हफ्ते में शुरू हुई थी। लड़का पसंद भी कर लिया है। लेकिन कैश की कमी के चलते हमने शादी की तारीख तय ही नहीं की है। कैश की समस्या कम होगी तो ही शादी की डेट तय की जाएगी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???