Patrika Hindi News

नैक टीम ने पीजीबीटी कॉलेज की हालत पर की तल्ख टिप्पणी

Updated: IST polytechnic college
तीन सदस्यीय टीम में एनसीटी के रीजनल डायरेक्टर एके त्रिपाठी और वैलूर मठ के स्वामी ने प्राचार्य कक्ष में बैठकर कॉलेज में स्टॉफ की स्थिति और दर्ज विद्यार्थी संख्या के संबंध में जानकारी ली।

बिलासपुर. शासकीय शिक्षण संस्थानों द्वारा नैक ग्रेडिंग न कराए जाने को लेकर उच्चशिक्षा विभाग की नाराजगी का असर दिखने लगा है। तीन सदस्यीय नैक टीम ने सोमवार को पीजीबीटी कॉलेज का निरीक्षण किया। टीम के सदस्यों ने आधी-अधूरी तैयारी और कम विद्यार्थी संख्या को लेकर टिप्पणी की। सोमवार को दिल्ली से पहुंची तीन सदस्यीय नैक टीम ने बनारस यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर आशा पाण्डेय के नेतृत्व में तारबाहर पीजीबीटी कॉलेज का निरीक्षण किया। तीन सदस्यीय टीम में एनसीटी के रीजनल डायरेक्टर एके त्रिपाठी और वैलूर मठ के स्वामी ने प्राचार्य कक्ष में बैठकर कॉलेज में स्टॉफ की स्थिति और दर्ज विद्यार्थी संख्या के संबंध में जानकारी ली। इसके बाद कॉलेज के विभिन्न कक्षों का भ्रमण कर वहां के शिक्षा के स्तर को परखने के लिए विद्यार्थियों से जवाब-तलब किया।

सदस्यों ने कक्षा में कम विद्यार्थी संख्या को लेकर भी टिप्पणी करते हुए जानना चाहा कि यहां क्या इसी तरह क्लास लगती है। इसके अलावा सदस्यों ने कॉलेज की लाइब्रेरी में उपलब्ध पुस्तकों को भी आऊट डेटेड बताकर टिप्पणी की प्राचार्य निशी भामरी ने जब बताया कि नैट में उपलब्ध पाठ्यक्रम से तैयारी कराई जाती है तो सदस्यों ने पूछा कि क्या दूर-दराज गांवों से आने वाले विद्यार्थियों के पास नैट की सुविधा है इसका वे कोई जवाब नहीं दे सकीं।

कार्यालय को बनाया क्लास रूम

नैक टीम के निरीक्षण के मद्देनजर कॉलेज प्रशासन ने सभा हाल से लगे कार्यालय को रातों-रात क्लास रूम में तब्दील करते हुए यहां डेस्क जमवा दिया लेकिन जब निरीक्षकों ने ब्लैक बोर्ड कहां है पूछा कॉलेज की प्राचार्य और स्टॉफ जवाब नहीं दे सके।

चकाचक सफाई और चलती रही पेंटिंग

नैक टीम के निरीक्षण को ध्यान में रखते हुए कॉलेज परिसर में चकाचक साफ-सफाई और रंगाई -पुताई का कार्य निरीक्षण के दौरान भी जारी रहा। प्रवेश द्वार पर रखी गई दो मूर्तियों पर रंग रोगन का कार्य भी पेंटर गेट पर बैठकर करते रहे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???