Patrika Hindi News

> > > > bilaspur: Pregnant women were not ambulance

एंबुलेंस के इंतजार में पांच घंटे तक भूखी प्यासी बैठी रही गर्भवती महिलाएं

Updated: IST ambulence
मितानीन संतोषी बाई ने कई बार एंबुलेंस को फोन लगाया। फिर भी शाम पांच बजे तक एंबुलेंस नहीं पहुंची

बिलासपुर. स्वास्थ्य विभाग की सुविधाएं लचर हैं। गुरुवार को जिला चिकित्सालय में खोंगसरा से चेकअप कराने के लिए आई पांच गर्भवती महिलाओं को 102 एंबुलेंस का पंाच घंटे से अधिक समय तक इंतजार करना पड़ा। उसके बाद भी उन्हें एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिल सकी। बाद में महिलाओं को ऑटो से ही रवाना होना पड़ा।

गुरुवार को खोंगसरा से मितानीन संतोषी बाई के साथ गांव की ही पांच पूनम सूर्यवंशी, रानी सूयवंशी, रेखा सूर्यवंशी, रूक्मिणी सूर्यवंशी और सुनीता चौहान आई थी। पांचों महिलाएं गर्भवती हैं।

यह महिलाएं यहां चेकअप के लिए आई थी। सभी महिलाएं 102 एंबुलेंस से यहां आई थी। चेकअप के बाद इन्हें विभाग की ओर से एंबुुलेंस नहीं मिली। इन्हें लाने वाली मितानीन संतोषी बाई ने कई बार एंबुलेंस को फोन लगाया। फिर भी शाम पांच बजे तक एंबुलेंस नहीं पहुंची। शाम पांच बजे महिलाओं को ऑटो से अपने घर जाना पड़ा। पांच घंटे तक महिलाएं भूखी-प्यासी उमस भरी गर्मी में जिला चिकित्सालय परिसर में बैठी रहीं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे