Patrika Hindi News

नोटबंदी की मार से एलआईसी पालिसियों की बिक्री 25 प्रतिशत गिरी 

Updated: IST Note ban new rules of withdrawl
इस योजना के तहत अब तक 13 हजार पालिसियों की बिक्री की गई थी जिसमें प्रति सप्ताह 20 से 25 पालिसियां शामिल थी, जो अब घटकर प्रति सप्ताह 5 पालिसी तक आ गई है।

बिलासपुर. नोटबंदी की मार से एलआईसी पालिसियों की बिक्री औंधे मुंहगिरी है। पिछले 20 दिनों में 25 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। पिछले वर्ष 2015-16 के 9 नवंबर से 26 नवंबर के बीच जहां 3,284 पालिसियों की बिक्री की गई थी, वहीं नोटबंदी के बाद इस अवधि में घटकर 2,319 हो गई है। यही हाल पोस्ट आफिस से बिकने वाले सुकन्या समृद्धि योजना की भी है। इस योजना के तहत अब तक 13 हजार पालिसियों की बिक्री की गई थी जिसमें प्रति सप्ताह 20 से 25 पालिसियां शामिल थी, जो अब घटकर प्रति सप्ताह 5 पालिसी तक आ गई है।

कुल 25 पालिसियां हैं

एलआईसी की कुल 25 पालिसियां अभी चलन में है जिसमें सिंगल प्रीमियम से लेकर तिमाही, छमाही व वार्षिक प्रीमियम शामिल हैं। पिछले 20 दिनों को छोड़ अगर नौ महीने का आंकड़ा उठाएंगे तो अबतक 48,962 बेची गई है जिसमें सिंंगल प्रीमियम से 41.85 करोड़ व नान सिंगल प्रीमियम से 34.29 करोड़ की आय हुई है। नोटबंदी के बाद ऐसी संभावना जताई जा रही है कि इसमें फिलहाल तेजी की संभावना अभी नहीं है।

सुकन्या समृद्धि योजना ठप

एलआईसी व बैंकों में चलाई जाने वाली एक से 18 वर्ष तक की कन्याओं के लिए सुकन्या समृद्धि योजना का हाल भी बेहाल है। पिछले दिनों जहां सामूहिक रुप से दूरस्थ गांव के लोग ग्रुप में एकसाथ आ रहे थे व 50 से 60 पालिसियां बेची जा रही थी। नोटबंदी के बाद पिछले 20 दिनों में इक्के-दक्के लोग आ रहे हैं। लोगों के पास खाने व जरुरी सामान के लिए पैसे नहीं है। ऐसे में पालिसी खरीदने की जल्दी किसे है। 500 - 1000 के नोट पूरे तौर पर प्रतिबंधित करने का खामियाजा भी इस योजना को उठाना पड़ रहा है। 13000 का आंकड़ा छूने के बाद योजना को फिलहाल तेजी की प्रतीक्षा है।

नोटबंदी के बाद एलआईसी पालिसी की बिक्री में 25 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। संभावना है कि कैश फ्लो प्रापर होने के बाद इसमें तेजी आए। 9 नवंबर से ही अभिकर्ताओं को पुराने नोट नहीं लेने के लिए आदेशित किया गया था जिसके कारण ही गिरावट आई है। अगले महीने से स्थितियों में सुधार होगा।

टीपीएस भाटिया, मार्केटिंग मैनेजर, एलआईसी,

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???