Patrika Hindi News

> > > > bilaspur: SBI distributed 10 million, the bank’s server failed, returned empty-handed from other banks

एसबीआई ने बांटे 10 करोड़, देना बैंक का सर्वर फेल, दूसरे बैंकों से लौटे खाली हाथ

Updated: IST note banned
आरबीआई के सर्कुलर के मुताबिक राज्य शासन ने सभी कर्मचारियों को उनके वेतन के 10 हजार रुपए नकदी उपलब्ध कराने के आदेश दिए है

बिलासपुर. नोटबंदी के बाद से चल रही कैश की राशनिंग और नगदी को लेकर मारामारी खत्म होने का नाम नहीं ले रही। बैंकों से लेकर व्यापारी और आम नागरिक भी कैश की कमी से जूझ रहे हैं। दिसंबर की शुरूआत अब वेतनभोगी कर्मचारी-अधिकारियों के लिए नई समस्या लेकर आई है। इससे निपटने के लिए आरबीआई के सर्कुलर के मुताबिक राज्य शासन ने सभी कर्मचारियों को उनके वेतन के 10 हजार रुपए नकदी उपलब्ध कराने के आदेश दिए हैं, लेकिन कैश की कमी से इसमें कई तरह की समस्याएं आ रही हैं। गुरुवार को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने लगभग 10 हजार कर्मचारियों को 10 करोड़ रुपए नकदी बांटे।

लेकिन अन्य कई बैंकों में सरकारी विभागों के डीडीओ और कर्मचारी नगदी के लिए चक्कर लगाते रहे। देना बैंक का सर्वर शाम तक फेल रहा, तो यूनियन बैंक ने नियम-कायदे बताकर बीयू के ढाई सौ कर्मचारियों को खाली हाथ लौटा दिया। माना जा रहा है कि वेतन को लेकर यह समस्या अभी बनी रहेगी। जिले में केवल राज्य शासन के ही 23 हजार से अधिक कर्मचारी-अधिकारी हैं। इसके अलावा केंद्र के रेलवे, एसईसीएल, सीएमपीडीआई, अन्य विभाग व निजी संस्थानों के हजारों कर्मचारी-अलग। इनका गुजारा सैलरी से ही होता है। महीने की शुरूआत में सभी को बेसब्री से अपनी सैलरी का इंतजार है। लेकिन कैश की तंगी की वजह से इतनी रकम की एकसाथ व्यवस्था हो पाना बेहद मुश्किल है। इस समस्या को देखते हुए ही राज्य शासन ने अपने कर्मचारियों को 10-10 हजार रुपए नगद वेतन देने की व्यवस्था की है। लेकिन मैदानी स्तर पर परिपालन में कई दिक्कतें भी आ रही हैं।

गुरुवार को एसबीआई ने तो तकरीबन 10 हजार राज्य कर्मियों (शिक्षक व शिक्षाकर्मी) को 10 करोड़ रुपए बांटे, लेकिन अन्य बैंकों में कर्मचारियों को किसी न किसी वजह से निराश होना पड़ा। यह स्थिति कर्मचारियों के लिए जितनी तकलीफदेह है, वहीं बैंकों के लिए भी बड़ी चुनौती है।

देना बैंक का सर्वर दिन भर रहा फेल

राम अवतार कपड़ा मार्केट में स्थित देना बैंक का सर्वर गुरुवार को दिन भर फेल रहा। लोग दिन भर पैसे लेने के लिए लाइन में लगे रहे। लेकिन शाम तक स्थिति सामान्य नहीं हो सकी। हालांकि बैंक प्रबंधन द्वारा सर्वर फेल होने की सूचना चस्पा की गई थी। शाम को लोगों को खाली हाथ लौटना पड़ा।

पंजाब एंड सिंध बैंक का कैंप सदर बाजार में

पंजाब एंड सिंध बैंक का एक्सचेंज काउंटर शुक्रवार को सदर बाजार में लगाया जाएगा। इसमें ग्राहक 2000 के नोट के बदले छोटे नोट बदलकर ले सकेंगे। बड़े नोटों को लेकर हो रही परेशानी को देखते हुए बैंक प्रबंधन द्वारा यह निर्णय लिया गया है।

जायजा लेने निकले बैंक के शीर्ष अधिकारी

सैलरी वितरण में किसी प्रकार की पेशानी नहीं हो। यह देखने के लेने के लिए बैंकों के शीर्ष अधिकारी सभी शाखाओं में दिन भर भ्रमण करते रहे। एसबीआई के क्षेत्रीय प्रबंधक शेखर शुक्ला ने रेलवे स्थित शाखा व पुराना हाईकोर्ट रोड स्थित मुख्य शाखा का दौरा किया। बैंक कर्मियों को ग्राहकों से नरमी से पेश आने की समझाइश दी गई।

सैलरी के लिए कैश की समस्या नहीं होने दी जाएगी। बैंक में पर्याप्त नकदी है, जिससे नवंबर माह का भुगतान किया जा सके। गुरुवार को भी किसी शाखा में कोई परेशानी नहीं हुई। लोगों को 10 करोड़ से अधिक का वेतन भुगतान किया गया।

शेखर शुक्ला, क्षेत्रीय प्रबंधक, एसबीआई, बिलासपुर

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???