Patrika Hindi News

आरोपियों को पेश नहीं किया गया, सिमी मददगार मामले की सुनवाई बढ़ी

Updated: IST alert ujjain police at simi activities
एनआईए की विशेष टीम ने राजधानी से 25 दिसम्बर 2013 को खमतराई में चिकन सेंटर चलाने वाले धीरज साव को गिरफ्तार किया था।

बिलासपुर. एनआईए की विशेष अदालत में मंगलवार को सिमी मददगार मामले की सुनवाई होनी थी। लेकिन आरोपियों को न्यायालय में पेश नहीं किया जा सका। अदालत ने मामले की अगली सुनवाई 9 दिसंबर तक के लिए बढ़ा दी है। एनआईए की विशेष टीम ने राजधानी से 25 दिसम्बर 2013 को खमतराई में चिकन सेंटर चलाने वाले धीरज साव को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में उसने बताया कि वह बिहार का रहने वाला है। चिकन सेंटर चलाने के दौरान 2011 में उसका संपर्क पाकिस्तान निवासी खालिद से हुआ।

खालिद इंडियन मुजाहिद्दीन और सिमी का सक्रिय सदस्य था। वह धीरज के खाते में पाकिस्तान से रुपए भेजता था और कमीशन के लालच में धीरज उन रुपए को भारत में सक्रिय सिमी आतंकियों के खाते में ट्रांसफर कर देता था। इसके बाद धीरज ने अपने ममेरे भाई श्रवण को भी इस काम में शामिल कर लिया। वह दोनों जुबैर हुसैन और उसकी पत्नी आयशा बानो के खाते में रुपए ट्रांसफर करते थे। विशेष टीम ने इन दोनों को गिरफ्तार किया था।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???