Patrika Hindi News

कुलदेवी को श्रृंगार सामग्री चढ़ा कर अच्छी बारिश की कामना की

Updated: IST pooja
मंदिर में पहुंच कर समाज के लोगों ने माता मरीमाई की पूजा कर उन्हें शृंगार पूजन किया गया।

बिलासपुर. आषाढ़ी पूजा महोत्सव का कार्यक्रम सोमवार को बैसवारा रजक समाज के लोगों ने कुलदेवी की पूजा-अर्चना करते हुए अच्छी वर्षा की कामना कर खुशहाली का आशीर्वाद मांगा। सुबह समाज की महिलाओं ने कुल देवी के शृंगार सामग्री को व पूजन सामग्री को अपने सिर पर रखकर नंगे पांव शोभायात्रा में माता की जय-जयकार करते हुए रास्ता तय किया। इस दौरान समाज के लोग भजन-कीर्तन करते हुए माता की महिमा का बखान करते रहे।

बैसवारा रजक समाज की ओर से सोमवार को कुलदेवी की पूजा करते हुए आषाढ़ी पूजा उत्सव का आयोजन किया गया। सुबह बाजे-गाजे के साथ इमलीपारा स्थित रजक समाज भवन से भव्य शोभायात्रा भजन-कीर्तन करते हुए निकाली गई। जो सत्यम चौक, अंबेडकर नगर, तालापारा स्थित मां मरीमाई के मंदिर पहुंची। इस दौरान समाज के लोगों ने रास्ते को साफ करते और पानी डालते हुए स्वच्छता का संदेश दिया। समाज के महामंत्री मोनू रजक ने बताया कि यह पूजा सदियों से समाज के बड़े-बुजुर्ग करते आ रहे हंै।

हमारा प्रदेश धान का कटोरा के नाम से जाना जाता है और यहां कृषि तभी होगी जब अच्छी वर्षा होगी। धान अधिक होने से सभी का विकास होगा। सभी को सुख-समृद्धि मिलेगी। इसी कामना से यह पूजा हर वर्ष भव्य रूप से परंपरा को निभाते हुए की जाती है। मंदिर में पहुंच कर समाज के लोगों ने माता मरीमाई की पूजा कर उन्हें शृंगार पूजन किया गया। इसके बाद मरी माई को भोग प्रसाद अर्पित किया गया। इस अवसर पर नर्मदा प्रसाद रजक, गेंदलाल रजक, बाबा रजक, मुन्नीलाल रजक, रूपलाल रजक, दीपक मूलचंद, किशोर रजक, गोपाल निर्मलकर, गणेश रजक, मिश्रीलाल रजक, शिवचरण रजक, रमेश रजक, राजेश रजक, रामकृपाल रजक, बब्बी रजक, ओमप्रकाश रजक, राजू रजक, श्याम रजक, भानू रजक, कमलेश रजक, कमल रजक, जोहन रजक, भोला रजक, फूलचंद रजक, मनीष रजक, विनोद रजक, महेश रजक, राजू रजक व महिला मंडल के सदस्य उपस्थित थे।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???