Patrika Hindi News

नौनिहालों को नहीं मिल रही क्वालिटी एजुकेशन

Updated: IST Education news
बच्चों के बैठने के लिए ठंड में दरी तक की व्यवस्था नहीं है।

बोकारो। सरकार एक तरफ तो बच्चों को क्वालिटी एजुकेशन देने की बात तो कह रही है। वहीं दूसरी ओर उसकी यह पहल कागजों में ही सिमट कर रह गई है। जरीडीह प्रखण्ड के तोताडीह का नव प्राथमिक विद्यालय की हालत यह है कि इस स्कूल में एक से पांच क्लास के बच्चे एक साथ पढ़ाई करते या कहें कि पढ़ाई के समय धूप में खेलते नजर आए।

बोकारो जिला मुख्यालय से 50 किमी दूर है, जरीडीह प्रखण्ड का तोताडीह गांव है यहां नव प्राथमिक विद्यालय कक्षा एक से पांच तक के बच्चों के लिए खोला गया। विद्यालय में मात्र 35 बच्चे हैं और दो टीचर हैं। बच्चों के बैठने के लिए ठंड में दरी तक की व्यवस्था नहीं है।

स्कूल की शिक्षिका व प्रधानाध्यापिका मुन्नी कुमारी कहती हैं कि एक से कक्षा पांच तक के बच्चो को लिए दो शिक्षक हैं। बेंच डेस्क जल्द लेने की बात कहीं, वहीं एक शिक्षक की अनुपस्थिति पर सफाई दी कि एक शिक्षक को स्कूल के दूसरे कार्य के लिए जाना पड़ता है। इस मामले में जिला शिक्षा अधीक्षक वीणा कुमारी ने जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई की बात कही है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???