Patrika Hindi News

हाइवे के ये लुटेरे लूट के बाद कर देते थे...

Updated: IST loot
एफटीएफ और बुलंदशहर पुलिस ने किया एक करोड की ट्रक लूट का खुलासा, दो अरेस्ट

बुलंदशहर। बुलंदशहर पुलिस और यूपी एसटीएफ ने एक करोड़ रूपए के ट्रक लूट का खुलासा करते हुए दो लुटेरों को अरेस्ट किया हैं। पकड़े गए दोनो अभियुक्त लूटे गए माल को ठिकाने लगाने का काम करते हैं। एसटीएफ की मानें तो यह एक कढ़ी है गैंग के बाकी सदस्यों को जल्दी ही अरेस्ट कर लिया जायेगा।

ड्राइवर की हत्या कर शव फेंका

कानपुर के गांधी रोडलाइंज का एक ट्रक 11 अप्रैल को सूरत से कपड़े के 187 कार्टन/गांठ लेकर कानपुर के लिए निकला था। कानपुर देहात के पास लुटेरों ने ट्रक ड्राइवर से लिफ्ट मांगी और ट्रक में सवार हो गए। लुटेरों ने ट्रक को बरजोड़ कानपुर देहात के पास लूट लिया और ड्राइवर की हत्या करके शव को जनपद औरेया में फेंक कर फरार हो गए। लुटेरों ने ट्रक को बुलंदशहर लाकर कपड़े की गांठ ट्रक से स्थानांतरित कर दी और ट्रक को जिरोली गांव बुलन्दशहर के पास लावारिस छोड़कर फरार हो गए। उधर, औरेया में 12 अप्रैल को अज्ञात शव की पहचान गांधी रोड लाइंज के अधिकारियों ने ड्राइवर राम अवतार निवासी जालौन के रूप में की थी। औरेया पुलिस ने हत्या की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया था।

बुलंदशहर में हुआ खुलासा

एसटीएफ के सौरभ विक्रम सिंह और छतारी थाने के एसओ प्रताप सिंह की संयुक्त टीम ने थाना छतारी के गांव पौन्डरी में छापा मारकर बंद पडे गोदाम से 56 कार्टून कपड़ा बरामद किया है। जिसकी कीमत करीब 30 लाख रुपए बताई जा रही है। पुलिस ने नरेन्द्र सिंह उर्फ छोटे व सूरजपाल को अरेस्ट किया है। एसटीएफ के अधिकारियों की मानें तो दोनों लूटे गए माल को ठिकाने लगाने का काम कर रहे थे। एसटीएफ के सौरभ विक्रम सिंह ने बताया कि यह तो छोटी सी कड़ी है। इनके अभी चार साथी फरार है। जिन्हें जल्दी ही अरेस्ट कर लिया जायेगा।

कई घटनाओं का हो सकता है खुलासा

एसटीएफ के सौरभ विक्रम सिंह ने बताया कि इस घटना के खुलासे के बाद स्टेट हाइवे पर होने वाली कई और लूटों का खुलासा हो सकता है। नरेन्द्र सिंह उर्फ छोटे व सूरजपाल तो इस कड़ी के छोटा सा अंश है। इनसे पूछताछ के बाद कई और जानकारी मिलने की संभावनाएं हैं।

चार क्रम में होता है पूरा खेल

एसटीएम की मानें तो इस पूरे काम को करने के लिए चार टीमों का गठन किया जाता है। पहली टीम का काम होता है कि लिफ्ट लेकर ट्रक को लूटना। दूसरी टीम का काम होता है ड्राइवर की हत्या कर कहीं दूर फेंकना, तीसरी टीम का काम होता है गाड़ी और सामान को ठिकाने लगाना और चौथी टीम का काम होता है माल को ठिकाने लगाना।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???