Patrika Hindi News

सर्वे: 61.5 प्रतिशत लोग बोले- GST पर सरकारी तैयारी अधूरी 

Updated: IST GST
ज्यों-ज्यों जीएसटी लागू करने की तारीख, एक जुलाई करीब आ रही है, इसको लेकर आशंकाएं बढ़ती जा रही है।

नई दिल्ली. ज्यों-ज्यों जीएसटी लागू करने की तारीख, एक जुलाई करीब आ रही है, इसको लेकर आशंकाएं बढ़ती जा रही है। आठ राज्यों में पत्रिका के वृहद सर्वे में 61.5% आम लोगों और 59% खुदरा कारोबारियों ने कहा कि सरकारी तैयारी अधूरी है और जीएसटी लागू करने की तारीख आगे बढऩी चाहिए। मात्र 18.38% कारोबारी बोले उनकी तैयारी पूरी है। 22.62 कुछ कहने की स्थिति में नहीं। वहीं, 57.5% लोगों को आशंका है कि जीएसटी से नोटबंदी जैसी परेशानी होगी। 45% कारोबारी इसको लेकर उलझन में हैं। 36.75% कारोबारी बोले कि उन्हें नुकसान होगा, 46.5% लोगों को महंगाई बढऩे की आशंका है, 42% उद्यमी बोले इससे उद्योगों की रफ्तार थमेगी। वहीं, एक तिहाई बोले- इससे रफ्तार मिलेगी। वहीं अर्थशास्त्री जयंती लाल भंडारी ने कहा कि भले ही सरकार 1 जुलाई से जीएसटी लागू करने के लिए तैयार हो, लेकिन कारोबारी ख़ासकर छोटे कारोबारी अभी जीएसटी के लिए पूरी तरह तैयार नहीं हैं। कई कारोबारियों का अभी रेजिस्ट्रेशन भी नहीं हुआ है। ऐसे में अगर सरकार जीएसटी लागू करने की तिथि आगे बढ़ा देती है तो अब तक का ये सबसे बड़ा कर सुधार बेहतर तरीक़े से लागू हो सकेगा। वैसे भी जीएसटी लागू करने की बाध्यता 1 सितम्बर से है। हालाँकि सरकार यदि 1 जुलाई से ही जीएसटी लागू करना चाहती है तो वह बचे 10 दिन में कारोबारियों की परेशानियों को कम से कम ज़रूर दूर कर दे।

रिटर्न जमा करने में दो माह की छूट
नई दिल्ली ञ्च पत्रिका. जीएसटी काउंसिल की 17 वीं बैठक में पत्रिका सर्वे के नतीजों पर मुहर लग गई। लगातार बढ़ते दबाव के बाद काउंसिल ने कारोबारियों को शुरुआती राहत देते हुए दो महीने के लिए रिटर्न दाखिल करने की अनिवार्यता से छूट दे दी है। यानि एक जुलाई को जीएसटी लागू होने के बाद उद्यमियों और कारोबारियों को जुलाई व अगस्त माह के लिए रिटर्न दाखिल नहीं करने होंगे, यह अनिवार्य प्रक्रिया सितंबर से लागू होगी। जीएसटी काउंसिल की अगली बैठक 30 जून को होगी।

'एक जुलाई रात 12 बजे से ही लागू होगा'
वित्तमंत्री जेटली ने कहा जीएसटीएन में लगभाग 81 प्रतिशत लोग रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। ऐसे में कहना कि इसमें दिक्कतें आ रही हैं, सही नहीं। जीएसटी एक जुलाई रात 12 बजे से ही लागू होगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???