Patrika Hindi News

Sharda University ने scholarship की तिथि 10 दिन बढ़ाई

Updated: IST Sharda University
यूनिवर्सिटी में दानदाताओं और पूर्व छात्र संगठन की ओर से कई छात्रों को स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है

नई दिल्ली। शारदा यूनिवर्सिटी ने स्कॉलरशिप आवेदनों के लिए समयसीमा 10 दिन बढ़ा दी है। अब विद्यार्थी 29 जुलाई तक अपने आवेदन भेज सकते हैं। पहले यह समयसीमा 19 जुलाई थी। शारदा यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता व डायरेक्टर एडमिशन राजीव गुप्ता ने कहा, समयसीमा बढ़ाने के पीछे हमारा उद्देश्य योग्य उम्मीदवारों को एक मौका और देना है। हम चाहते हैं कि इनोवेटिव विचार और योग्यता वाले छात्र यूनिवर्सिटी की ओर से पेश किए जा रहे कोर्सेस का हिस्सा बनें।

यूनिवर्सिटी में दानदाताओं और पूर्व छात्र संगठन की ओर से कई छात्रों को स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है। शैक्षणिक योग्यता, खेलकूद और सांस्कृतिक क्षेत्र में उपलब्धि के आधार पर यूनिवर्सिटी की ओर से ट्यूशन फीस के 80 प्रतिशत तक की स्कॉलरशिप दी जाती है। यह एसयूएटी और प्रवेश परीक्षा में प्रदर्शन के आधार पर तय होती है।

यूनिवर्सिटी ने 2016-17 में, 1,200 से ज्यादा छात्र-छात्राओं को विभिन्न अंडर-ग्रेजुएट और पोस्ट-ग्रेजुएट कार्यक्रमों के लिए स्कॉलरशिप प्रदान की। यूनिवर्सिटी का मुख्य उद्देश्य आधुनिक विचारों पर आधारित शिक्षा प्रणाली के जरिए भारतीय छात्र-छात्राओं को वैश्विक स्तर पर लाकर खड़ा करना है। असाधारण फैकल्टी, विश्वस्तरीय शैक्षणिक मानकों और इनोवेटिव एकेडेमिक प्रोग्राम्स की बदौलत शारदा यूनिवर्सिटी ने अपने लिए एक खास जगह बनाई है। यह भारतीय शिक्षा प्रणाली में वैश्विक और भविष्य की लर्निंग लेकर आई है।

UP Budget : अल्पसंख्यकों की छात्रवृत्ति के लिए 792 करोड़

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मंगलवार को विधानसभा में अपना पहला बजट विपक्षी पार्टियों के हंगामे के बीच पेश किया। खास बात यह है कि पांच साल बाद किसी किसी वित्त मंत्री ने प्रदेश का बजट पेश किया है। योगी सरकार ने अपने पहले बजट में हर तबके को साधने की कोशिश की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अल्पसंख्यकों के साथ ही किसानों, युवाओं, छात्र-छात्राओं के लिए भी कई करोड़ का बजट आवंटित किया है।

स्कूली बच्चों के लिए कई करोड़ का प्रावधान

अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति के लिए 791 करोड़ 83 लाख का बजट है। बजट में स्कूल में बच्चों के बैग के लिए 100 करोड़ की व्यवस्था की गई है। इसके साथ शौचालय निर्माण के लिए 3255 करोड़, इसमें स्कूल में बनने वाले शौचालय भी शामिल, सर्व शिक्षा अभियान के लिए 19444 करोड़, मिड-डे- मील के लिए 2054 करोड़, माध्यमिक शिक्षा के लिए 551 करोड़, उच्च शिक्षा के लिए 191 करोड़, ओबीसी हॉस्टल के लिए 52 करोड़ तथा मान्यता प्राप्त मदरसों के आधुनिकीकरण के 394 करोड़ रुपए बजट में रखे गए हैं, जबकि गोरखपुर में लोक मल्हार और अयोध्या में सावन झूला पर विशेष आयोजन होंगे।

बजट की ये कुछ खास बातें...

1 . बच्चों की यूनिफॉर्म व किताब के लिए 124 करोड़ रुपए की योजना।

2. किसानों, दुर्बल वर्ग, महिलाओं एवं बालिकाओं, बुजुर्गों और युवा वर्ग को भयरहित वातावरण प्रदान करने का वादा।

3. लड़कियों के लिए स्नातक तक निशुल्क शिक्षा मुहैया कराई जाएगी

4. स्कूली बच्चों को जूता, मोजा, स्वेटर बांटने के लिए 300 करोड़

5. किसान बीमा के लिए 692 करोड़ रुपए का आवंटन

6. अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति के लिए 791 करोड़ 83 लाख का बजट है

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???