Patrika Hindi News

अमरिंदर की ताजपोशी में हुड्डा का शक्ति प्रदर्शन, विमान से पहुंचे चंडीगढ़

Updated: IST Bhupinder singh Hooda power performance
पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह की ताजपोशी से हरियाणा कांग्रेस की राजनीति पूरी तरह से प्रभावित हो गई

चंडीगढ़। पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह की ताजपोशी से हरियाणा कांग्रेस की राजनीति पूरी तरह से प्रभावित हो गई है। कैप्टन अमरिंदर सिंह की ताजपोशी के माध्यम से एक बार फिर से हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा अपना शक्ति प्रदर्शन करने में कामयाब हो गए हैं। हुड्डा हरियाणा से इस समारोह में भाग लेने वाले एकमात्र कांग्रेसी नेता हैं।

दिलचस्प बात यह है कि पंजाब में विधानसभा चुनाव के दौरान हुड्डा ने एसवाईएल के मुद्दे जहां खुलकर कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ था वहीं चुनाव में पंजाब कांग्रेस के प्रति नरम पडऩे वाले प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर का नाम प्रमुख अतिथियों में नहीं था। अलबत्ता वह दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन के साथ समारोह में पहुंचे और दूसरी पंक्ति में बैठे। दूसरी तरफ हरियाणा कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी के समारोह में शामिल होने तथा उन्हें न्यौता भेजने को लेकर अंत तक संशय बना रहा।

पंजाब में विधानसभा चुनाव के दौरान भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कांग्रेस पार्टी के लिए यह कहते हुए प्रचार करने से इनकार कर दिया था कि जब तक अमरिंदर सिंह हरियाणा को एसवाईएल का पानी देने का वादा नहीं करते हैं तब तक वह उनके समर्थन में प्रचार नहीं करेंगे। चुनाव में अमरिंदर ने भी हुड्डा के खिलाफ कई तरह के बयान जारी किए थे। चुनाव प्रक्रिया के दौरान हुड्डा जहां अमरिंदर के खिलाफ मोर्चा खोले हुए थे वहीं हरियाणा कांग्रेस प्रधान अशोक तंवर तथा कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी इस मामले में नरम थी। उक्त दोनों नेताओं ने पंजाब कांग्रेस के प्रति नरम रूख अपनाते हुए हर बार यही कहा था कि अगर उनकी डयूटी लगाई जाएगी तो वह पंजाब में प्रचार करेंगे।

अमरिंदर के शपथ ग्रहण समारोह में पूरे समीकरण बदले हुए दिखाई दिए। बुधवार को पंजाब कांग्रेस द्वारा जारी की गई विशेष अतिथियों की सूची में केवल भूपेंद्र सिंह हुड्डा का नाम ही शामिल था। तमाम अटकलों के बावजूद पंजाब कांग्रेस को एसवाईएल के मुद्दे पर घेरने वाले हुड्डा ने आज अमरिंदर की ताजपोशी में शामिल होकर सभी लोगों को चौंका दिया है।

इससे पहले हुड्डा ने अपने विरोधियों को उस समय झटका दिया जब वह दिल्ली से उसी विमान में चंडीगढ़ आए जिसमें राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस नेता आनंद शर्मा, राजीव शुक्ला और अश्विनी कुमार भी थे।

हुड्डा ने एक तीर से कई शिकार कर दिए। एक तरफ जहां उन्होंने अमरिंदर के साथ अपनी पुरानी दोस्ती को निभाने का काम किया वहीं अशोक तंवर और किरण चौधरी को भी अपनी हाईकमान में पकड़ मजबूत होने का संकेत दे दिया है। हुड्डा की इस कार्रवाई से तंवर और किरण को हटाने की मांग करने वाले उनके खेमे को पूरा बल मिलेगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???