Patrika Hindi News

हार के बाद बादल ने राज्यपाल को सौंपा इस्तीफा

Updated: IST Prakash Singh Badal Launches Kisan Suvidha App
मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने अकाली-भाजपा गठबंधन की करारी हार के बाद आज राज्यपाल वी.पी. बदनोर को अपना इस्तीफा सौंप दिया

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने अकाली-भाजपा गठबंधन की करारी हार के बाद आज राज्यपाल वी.पी. बदनोर को अपना इस्तीफा सौंप दिया। बादल ने दोपहर पंजाब भवन में पहले केबिनेट बैठक की और एक प्रस्ताव पारित कर विधानसभा भंग करने की सिफारिश की। उसके बाद वह उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल तथा अन्य नेताओं के साथ राज्यपाल भवन गये और राज्यपाल को अपना इस्तीफा दे दिया।

उन्होंने कहा कि वह पंजाब की जनता के फैसले को तहेदिल से स्वीकार करते हैंं तथा जो विश्वास और स्नेह उन्हें जनता से मिला उनके लिये भी धन्यवाद करते हैंं। उन्होंने प्रशासनिक तथा पुलिस प्रशासन की ओर से मिले सहयोग के लिये शुक्रिया अदा किया। बादल ने कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह को शुभकामनायें दी। उन्होंने पंजाब तथा पंजाबियों के हितों की रक्षा के लिये काम करने वाली नयी सरकार को रचनात्मक सहयोग का आश्वासन दिया। राजभवन से बाहर निकलते हुए बादल ने पत्रकारों से कहा कि चुनावों में पार्टी की हार के कारणों की समीक्षा की जायेगी।

उन्होंंने कहा कि अकाली सरकार ने विकास के बड़े काम किये तथा सतलुज यमुना सम्पर्क नहर के मुद्दे पर अंत तक लड़ती रही तथा पानी की एक बूंद बाहर नहीं जाने देने के लिये कोई भी कुर्बानी करने का संकल्प लिया लेेेकिन लोगों ने जो जनादेश दिया वह उसका स्वागत करते हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस से हमारी र्कोई ज्यादती दुश्मनी नहीं है लेकिन जिस तरह लंबे समय से पंजाब के साथ कांग्रेस की सरकारों ने सौतेला व्यवहार किया उसको लेकर हम खुश नहीं हैं और कांग्रेस तथा अकाली दल के बीच आग तथा पानी जैसा रिश्ता है। हम उसके साथ सहयोग की बात कभी नहीं कर सकते।

उन्होंंने कहा कि पार्टी की होने वाली बैठक मेें हार को लेकर मंथन किया जायेगा और पानी के मुद्दे पर अंत तक लड़ते रहेंगे। पानी का मुद्दा आने वाले दिनों में गंभीर मुद्दा बनने जा रहा है। पार्टी सदन मेें तथा सदन के बाहर एक मजबूत विपक्ष की भूमिका निभायेगी। बादल ने कहा कि उन्हेें खुशी है कि हार के बावजूद उनका वोट प्रतिशत घटा नहीं। ज्ञातव्य है कि विधानसभा चुनाव परिणाम में कांग्रेस को 77, आम आदमी पार्टी को 22 सीटें, अकाली दल को 15 और भाजपा को तीन सीटें मिलीं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???