Patrika Hindi News

> > > > Banks can not find enough cash to pay

बैंकों से नहीं मिल रही खर्च लायक नकदी

Updated: IST chennai news
सरकारी हो या निजी बैंक सब यही दावा कर रहे हैं कि इस सप्ताह जिसमें लोगों का वेतन आ रहा है के लिए उनके पास नोटों की कोई कमी नहीं है जबकि वास्तविकता यह है कि महानगर में सैलरी अकाउंट

चेन्नई. सरकारी हो या निजी बैंक सब यही दावा कर रहे हैं कि इस सप्ताह जिसमें लोगों का वेतन आ रहा है के लिए उनके पास नोटों की कोई कमी नहीं है जबकि वास्तविकता यह है कि महानगर में सैलरी अकाउंट वाले कर्मचारियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सैलरी अकाउंट वाले कर्मचारियों को बैंकों से दस हजार रुपए की नगदी तो मिल गई वह दैनिक कार्यों को पूरा नहीं करती क्योंकि मकान किराया, बच्चों की फीस एवं अन्य दैनिक कामकाज के लिए यह राशि पर्याप्त नहीं है।

कुछ लोगों ने शिकायत की है उनको बैंकों में कैश की कमी होने के कारण पैसा निकालने के लिए अन्य शाखाओं में दौडऩा पड़ा। जो लोग सुबह से बैंक और एटीमए पर कतार में लगे हंै उन्हीं को कैश मिल पाया। बैंकों की हालत यह है कि उनमें 100-150 लोगों को ही कैश मिल पाया। इसके बाद बाकी बचे लोगों को दूसरी शाखाओं में जाकर फिर लाइन में लगना पड़ा। इससे उनका पूरा दिन बर्बाद हो गया।

उधर, रेलवे ने अपने अराजपत्रित कर्मचारियों को दस हजार रुपए की राशि प्रदान की है। इसके लिए उनसे एक प्रपत्र भर कर जमा करवाया गया था।

इसी प्रकार परिवहन विभाग के कर्मचारियों को भी बुधवार को 3000 रुपए की राशि प्रदान की गई। सूत्रों के अनुसार यह राशि उनको वेतन के अग्रिम के रूप में प्रदान की गई। इससे राज्य भर के करीब 1.5 लाख परिवहन कर्मचारी लाभान्वित हुए। कर्मचारियों का शेष वेतन उनके खाते में डाल दिया जाएगा।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

More From Chennai
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???