Patrika Hindi News

स्कूल कक्ष में मरी पड़ी है गाय, सड़ांध से बच्चों का बुरा हाल 

Updated: IST chhatarpur hindi news, madhya pradesh news in hind
स्कूल परिसर का वातावरण दूषित

छतरपुर / बड़ामलहरा. क्षेत्र के घिनौची के नौवनिहाल स्कूल आने से कतरा रहे हैं। स्कूल परिसर में पिछले कई दिनों से गाय मृत पड़ी है। उसके शव की बदबू से स्कूल परिसर का वातावरण दूषित हो गया है। ऐसे में छात्र-छात्राएं नाक पर रूमाल रखकर पढ़ाई कर रहे हैं तो कुछ स्कूल छोड़कर घर भाग रहे थे। बच्चों से पूछने पर बताया कि परिसर में गाय के शव की दुर्गंध से उल्टियां हो गई। जिससे घर जा रहे है।
ग्राम घिनौची के नौनिहाल सप्ताह के पहले ही दिन कंधे पर बस्ता लेकर घर लौट रहे थे। पूछने पर बताया कि विद्यालय परिसर में बने एक पुराने पंचायत भवन में कई दिनों से एक गाय मृत पड़ी है। वह पूरी तरह से सड़ चुकी है और उसकी दुर्गन्ध से कक्षाओं में पढ़ाई करना मुश्किल हो गया है। बच्चे कक्षा में थोड़ी ही देर बैठे थे कि उल्टियां आना शुरू हो जाती हैं। कोई बीमारी न हो जाए इसके डर से हम घर जा रहे हैं। शासकीय प्राथमिक शाला, शासकीय माध्यमिक शाला एवं आंगनबाड़ी केंद्र एक ही परिसर में संचालित हैं। इन संस्थाओं में तीन सैकड़ा के लगभग बच्चे अध्यनरत हैं। शासकीय माध्यमिक शाला में पदस्थ प्रधानाध्यापक शिब्बू आदिवासी ने बताया किए परिसर में दुर्गंध होने से बच्चे स्कूल आकर वापस लौट गए।
ऐसी स्थिति में बच्चों में बीमारी फैलने का डर है। उन्होंने बताया कि जल्द सफाई नहीं की गई तो अघोषित छुट्टी करना पड़ सकता है। ग्राम पंचायत सरपंच व सचिव को सूचित किया लेकिन उन्होंने गंभीरता से नहीं लिया। ग्राम पंचायत की उदासीनता की शिकायत ग्रामीणों ने एसडीएम दिव्या अवस्थी से कर परिसर में सफाई कराने की मांग की है।
नहीं बना मध्याह्न भोजन, भूखे रहे बच्चे
सोमवार को शासकीय प्राथमिक शाला एवं माध्यमिक शाला घिनौची में मध्याह्न भोजन नहीं बनाया गया। बच्चों ने अपने घर जाकर खाना खाया। सोइया राधा सेन, पूना सेन, हल्ली सेन व जय देवी ने बताया कि गाय के शव की बदबू से रसोई घर के अंदर जाना मुश्किल है। सांस लेना तक दूभर है ऐसे में बच्चों का खाना बनाना नामुमकिन है। एेसे में सोमवार को खाना नहीं बना पाए।

कैसा स्वच्छता अभियान
देश में स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है। कागजों में इसके आश्चर्यजनक आंकड़े आ रहे है लेकिन ग्राम पंचायत घिनौची की तस्वीर देखे तो निििश्चत ही आंकड़ों पर संदेह होगा। ग्रामीण बताते ह़ै कि गांव की गलियों में कभी झाडू तक नहीं लगती। नालियों की सफाई न होने से गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है। स्कूल परिसर में कई दिन से एक गाय मर कर सड़ चुकी है। लेकिन पंचायत कर्मियों ने उसे उठवाने में रूचि नहीं दिखाई। गाय का शव फूल कर इतना वीभत्ष हो चुका है कि उसे कमरे से बाहर निकालने में मसशक्त करनी होगी।

सूचना मिली है। मैं आज छुट्टी पर हूं। फिर भी जल्द ही उसे उठवाने की व्यवस्था कराती हूं।।
दिव्या अवस्थी, एसडीएम बड़ामलहरा

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???