Patrika Hindi News

संविदाकर्मियों का एेलान, नियमित करो नहीं तो प्रदेशभर में हड़ताल

Updated: IST bijali 2.jpg
मप्र संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ व मप्र यूनाइटेड फोरम फॉर पॉवर इम्प्लाइज एवं इंजीनियर्स संघ की चेतावनी

छिंदवाड़ा. मध्यप्रदेश संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ एवं मध्यप्रदेश यूनाइटेड फोरम फॉर इम्प्लाइज एवं इंजीनियर्स संघ के बैनर तले बिजली कम्पनी के संविदा कर्मचारियों ने नियमित करने के चुनावी वादे को सत्ताधारी दल को याद दिलाया है। बिजली कम्पनी के संविदा कर्मचारियों ने चेतावनी दी है कि यदि उनको नियमित नहीं किया गया तो हड़ताल शुरू कर प्रदेशभर में ब्लैक आउट करेंगे।

प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने कहा कि सत्ताधारी दल के चुनावी घोषणा पत्र 2013 के पृष्ठ संख्या 33 पर उल्लेख किया गया था कि बिजली कम्पनी के सभी संविदा कर्मचारियों को नियमित किया जाएगा। प्रदेश के पांच बिजली कम्पनियों में 10 हजार संविदा कर्मचारी हैं। कर्मचारियों ने विगत दिनों भोपाल के छोला दशहरा मैदान में प्रदर्शन कर सरकार को इससे अवगत करा दिया है।

मध्यप्रदेश यूनाइटेड फोरम फॉर इम्प्लाइज एवं इंजीनियर्स संघ के संयोजक वीके एस परिहार ने कहा कि प्रदेश के 10 हजार कर्मचारियों की अथक मेहनत की वजह से अटल ज्योति योजना के तहत प्रदेश के सभी गांवों में बिजली पहुंची है। इसके परिणाम स्वरूप प्रदेश में तीसरी बार भाजपा की सरकार बनी है।

घोषणा पत्र जनसंकल्प के वादे को सरकार ने अब तक पूरा नहीं किया है। बल्कि कुछ संविदा कर्मचारियों को बाहर कर दिया है। इसको लेकर कर्मचारियों में आक्रोश है। यदि सरकार ने बाहर किए गए संविदाकर्मियों को वापस नहीं लिया और एक माह के अंदर नियमित करने की कार्रवाई नहीं की तो प्रदेशभर में हड़ताल किया जाएगा। वादे के संबंध में 150 विधायक व 10 सांसदों को ज्ञापन सौंपा गया है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???