Patrika Hindi News

कबाड़ की तरह पड़ीं पेटियां, सड़क पर फैल रहा कचरा 

Updated: IST chhindwara
जागरुकता के लिए शहरभर में लगाए गए 50 होर्डिंग्स, क्रियान्वयन के लिए नहीं गम्भीर

छिंदवाड़ा . नगरनिगम स्वच्छता सर्वेक्षण 2017 में नम्बर वन बनने के लिए प्रयासरत है। लोगों को जागरूक करने के लिए शहरभर में होर्डिंग्स भी लगाए गए हैं लेकिन धरातल पर इस प्रयास की कहीकत कुछ और है। डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए मंगाए गए रिक्शे और कचरा पेटियां आवंटित किए जाने के बजाय जेल बगीचे में खराब हो रहे हैं। शायद यही वजह है कि लाख कोशिशों के बाद अब भी गली-मोहल्लों और नुक्कड़ पर कचरे का ढेर देखा जा सकता है।

शहर को नम्बर वन बनाने की होड़ में 'मेरा छिंदवाड़ा बनेगा नम्बर वन,स्वच्छ छिंदवाड़ा सुंदर छिंदवाड़ा स्लोगन लिखे हुए शहरभर में 50 बडे़-बड़े होर्डिंग्स लगाए गए हैं, लेकिन योजना के क्रियान्वयन के लिए कोई गम्भीर नहीं है। खुले में कचरा फेंकने से रोकने और व्यवस्थित तरीके से कचरा एकत्रित करने के लिए लाखों रुपए खर्च कर 80 नई कचरा पेटियों की खरीदी की गई थी। इन कचरा पेटियों को विभिन्न वार्डों में रखा जाना था ताकि सड़क पर कचरा ने फेंका जाए। वर्तमान में इन कचरा पेटियों में से करीब 40 पेटियां जेल बगीचे में जंग खा रही हैं।

हकीकत

80 नग हाथ रिक्शा

20 खराब

24 कचरा गाड़ी

80 नई कचरा पेटी

40 वार्डो में

40 जेल बगीचे में पड़ीं

संयुक्त प्रयास जारी है

स्वच्छता मिशन में छिंदवाड़ा को नम्बर बनाने के लिए जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर जुटे हुए हैं। डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन को बेहतर बनाने के लिए टूटे हुए रिक्शों को दुरुस्त कराएंगे। जेल बगीचे में रखी हुई कचरा पेटियों को कचरा फेंकने के स्थान पर रखा जाएगा।

एनएस बघेल, प्रभारी आयुक्त नगरनिगम

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
More From Chhindwara
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???