Patrika Hindi News

> > > > Collectorate gathering of women on the street jam

कलेक्ट्रेट में महिलाओं का जमावड़ा, सड़क पर जाम

Updated: IST chhindwara
माइक्रो फाइनेंस कम्पनियों के लोन के दबाव से पीडि़त महिलाओं ने लगातार तीसरे दिन गुरुवार को कलेक्ट्रेट में धावा बोला और सड़क पर जाम भी लगा दिया।

छिंदवाड़ा .माइक्रो फाइनेंस कम्पनियों के लोन के दबाव से पीडि़त महिलाओं ने लगातार तीसरे दिन गुरुवार को कलेक्ट्रेट में धावा बोला और सड़क पर जाम भी लगा दिया। इसे देखते हुए कोतवाली टीआई समेत पुलिस बल पहुंचा और महिलाओं को समझाइश दी। इसके बाद भी महिलाओं का समूह शाम तक कलेक्टे्रट में बना रहा। वे लगातार प्रशासन से इन कम्पनियों के लोन को माफ कराने की मांग कर रही हंै।

ग्राम खैरीपैका समेत शहर के अलग-अलग कोने से आई इन महिलाओं ने कहा कि इन कम्पनियों से समूह के आधार पर 50 हजार से लेकर एक लाख रुपए तक के लोन छोटे व्यवसाय करने के लिए उन्होंने लिए थे। नोटबंदी के बाद शहरी और ग्रामीण इलाकों में अचानक कारोबार ठप हो गया और व्यवसाय में लगाई गई रकम डूबने की स्थिति में आ गई। इसके साथ उनके परिवार की आर्थिक स्थिति गड़बड़ा गई है। इस स्थिति में इन कम्पनियों के एजेंट उन पर किस्त भरने के लिए दबाव बना रहे हैं। एेसा न करने पर उनकी गृहस्थी का सामान जब्त करने की धमकी दे रहे हैं। इस स्थिति में कई महिलाएं तनाव में आ गई है। वे आत्मघाती कदम भी उठा सकती है।

कलेक्टर कार्यालय में दोपहर 12 बजे से तीन बजे तक कई दफ्तरों में भटकने के बाद कोई अधिकारी जब उन्हें आश्वासन नहीं दे पाया तो उन्होंने कलेक्ट्रेट के सामने सड़क पर चक्काजाम कर दिया।

इसकी सूचना मिलने पर टीआई ब्रजेश मिश्रा समेत पुलिस बल मौके पर पहुंचा और समझाइश दी। उसके बाद महिलाओं का दल शांत हुआ।

पीडि़त महिलाओं की समस्या गम्भीर

माइक्रो फाइनेंस कम्पनियों के लोन से पीडि़त महिलाओं की समस्या गम्भीर है। इस पर फिलहाल एसपी को कार्रवाई करने के लिए कहा गया है। प्रशासन अपने स्तर पर विचार कर जल्द फैसला लेगा।

जेके जैन, कलेक्टर

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???