Patrika Hindi News

> > > > Colourful presentations

दिन में बनाए खिलौने, शाम को दी रंगारंग प्रस्तुतियां

Updated: IST chhindwara
बुलबुल को नियम प्रतिज्ञा, मेढक कूद, वीर-गर्जना, प्रार्थना, झंडा गीत, गाठे ध्वज शिष्टाचार, प्राथमिक सहायता, मोगली की कहानी, तारे की कहानी, मिट्टी के खिलौने बनाने का प्रशिक्षण दिया गया।

छिंदवाड़ा. भारत स्काउट गाइड जिला संघ के वार्षिक कार्यक्रम अनुसार आदिवासी म्यूजियम में तीन दिवसीय संभाग स्तरीय तृतीय चरण स्वर्ण पंख जांच शिविर का आयोजन आदिवासी विकास के सहायक आयुक्त नरोत्तम बरकड़े (पदेन जिला कमिश्नर स्काउट) के निर्देशन में किया गया। जिसमें आदिवासी विकासखंड तामिया, बिछुआ, हरई एवं जुन्नारदेव के आदिवासी बालक कन्या आश्रम एवं प्राइमरी स्कूलों के 65 कब एवं 65 बुलबुल एवं 15 प्रभारी टीचर्स ने भाग लिया।

शिविर में सुबह 6 बजे से रात्रि 8 बजे तक कब बुलबुल को नियम प्रतिज्ञा, मेढक कूद, वीर-गर्जना, प्रार्थना, झंडा गीत, गाठे ध्वज शिष्टाचार, प्राथमिक सहायता, मोगली की कहानी, तारे की कहानी, मिट्टी के खिलौने बनाने का प्रशिक्षण दिया गया। परीक्षा के पश्चात सफल कब, बुलबुल संभाग स्तरीय तृतीय चरण स्वर्ण पंख के लिए चयनित होंगे।

शिविर के संचालन में पुष्पा पिल्ले, एलएल भारती, राकेश मालवीय, सुरेश विश्वकर्मा, राजेन्द्र सोनी, विजय नुन्हारिया सहयोग दिया। गुरुवार शाम सात बजे ग्राण्ड कैम्पफायर किया गया। इस अवसर पर सीके दुबे, विनोद तिवारी, प्रदीप जैन एवं ब्लाक के समस्त पदाधिकारी मौजूद रहे। बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे