Patrika Hindi News

प्रसूति सहायता योजना ठप, जिम्मेदार नहीं दे रहे ध्यान

Updated: IST chhindwara
जिले के हितग्राहियों को प्रसूति सहायता योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। अधिकारी एक-दूसरे पर मामले को टाल रहे हैं।

छिंदवाड़ा . जिले के हितग्राहियों को प्रसूति सहायता योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। अधिकारी एक-दूसरे पर मामले को टाल रहे हैं। जिला अस्पताल अंतर्गत विगत चार माह से महिलाओं को राशि का भुगतान नहीं किया गया। विकासखंडों मेें भी यही स्थिति है।

जानकारी के अनुसार रोजाना कर्मकार मंडल के अंतर्गत दो से तीन आवेदन उपरोक्त योजना के अंतर्गत विभाग के पास प्रतिदिन आते हैं। लेकिन राशि न मिलने से हितग्राहियों को मायूस होकर लौटना पड़ रहा है। योजना का लाभ कर्मकार मंडल में रजिस्टर्ड मजदूरों को ही दिया जाता है। इसके तहत महिलाओं को 45 दिन और पुरुषों को 15 की मजदूरी कलेक्टर दर पर हितग्राही के खाते में डाली जाती है। जिला अस्पताल में अब तक 35 प्रकरण लम्बित हैं।

क्या है योजना

मध्यप्रदेश में महिला निर्माण श्रमिकों के लिए प्रसूति सहायता योजना संचालित की जा रही है। योजना के तहत महिला श्रमिकों को गर्भावस्था के अंतिम तीन माह में मिलने वाली मजदूरी का भुगतान 50 प्रतिशत प्रसूति हितलाभ के रूप में किया जाता है। साथ ही एक हजार रुपए अतिरिक्त चिकित्सा सहायता राशि की मदद की जाती है। इतना ही नहीं महिला के पति को भी 15 दिन का पितृत्व लाभ दिया जाता है।

उपरोक्त योजना का लाभ पाने के लिए हितग्राहियों का निर्माण श्रमिक के रूप में पंजीयन आवश्यक है। प्रसूति के दौरान बीमारी या अन्य चिकित्सकीय जटिलता होने पर महिला को एक माह अतिरिक्त लाभ दिया जाता है। जबकि मृत्यु होने की दशा में मृत्यु की तारीख तक की सहायता परिवार के अन्य सदस्यों को दी जाती है। योजना का लाभ सिर्फ दो बच्चों तक ही दिया जाता है।

चेक नहीं किया स्वीकार

कर्मकार मंडल अंतर्गत प्रसूति सहायता योजना का लाभ मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के माध्यम से दिया जाता है। इसके लिए विभाग द्वारा बीस लाख का चेक दिया गया, लेकिन उसे स्वीकार नहीं किया गया है।

- संदीप मिश्रा, श्रम निरीक्षक

खाता गड़बड़ होने से किया वापस

श्रम विभाग द्वारा जारी किया गया चेक तकनीकी समस्या के चलते जमा नहीं हो रहा था, इसलिए विभाग ने इसके लिए नया खाता खुलवाया है। इसमें चेक की राशि जमा की जाएगी तथा हितग्राहियों को लाभ दिया जाएगा।

- डॉ. एमके सहलाम, सीएमएचओ

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???