Patrika Hindi News

गर्ल्स कॉलेज बना राजनीति का अड्डा

Updated: IST chhindwara
राजमाता सिंधिया गर्ल्स कॉलेज राजनीति का अड्डा बनता जा रहा है। यहां दो छात्र संगठन में आए दिन तनाव की स्थिति बन रही है।

छिंदवाड़ा . राजमाता सिंधिया गर्ल्स कॉलेज राजनीति का अड्डा बनता जा रहा है। यहां दो छात्र संगठन में आए दिन तनाव की स्थिति बन रही है। कॉलेज में बुधवार को खेल प्रतियोगिताओं के दौरान दो छात्राओं में तीखी नोक-झोंक देखने को मिली। प्राचार्य को जब इस मामले की जानकारी हुई तो उन्होंने दोनों को बुलाकर समझाइश दी।

जानकारी के अनुसार राजमाता सिंधिया गर्ल्स कॉलेज में जिला छात्र महासंघ अध्यक्ष रेशमा खान के अंतिम सेमेस्टर का रिजल्ट नहीं आया है, जिससे उनका कॉलेज आना-जाना रहता है। इसके अलावा वह कॉलेज में अन्य गतिविधियों में हिस्सा लेती रहीं हैं। इस मामले को लेकर कुछ छात्राओं ने प्राचार्य को शिकायत की थी। उनका कहना था कि रेशमा खान अब कॉलेज की छात्रा नहीं हैं। इसलिए उनके कॉलेज में प्रवेश पर रोक लगाई जानी चाहिए। छात्राओं ने विधायक चौधरी चन्द्रभान सिंह से भी मामले में शिकायत की। दरअसल, इस समय कॉलेज में एवीबीपी ग्रुप सक्रिय है, जबकि छात्रसंघ अध्यक्ष रेशमा खान को कांग्रेस से जुड़ी हुई हैं। ऐसे में अक्सर कॉलेज में दोनों ग्रुपों में तनाव की स्थिति

बन रही है।

विधायक ने दिए प्राचार्य को निर्देश

छात्राओं की शिकायत पर बीते दिन विधायक चौधरी चन्द्रभान सिंह ने रेशमा खान को कॉलेज में प्रवेश न देने के निर्देश प्राचार्य डॉ. पीआर चंदेलकर को दिए। इस बारे में विधायक का कहना है कि रेशमा खान कॉलेज की छात्रा नहीं है, जबकि वे लगातार कॉलेज आ रही है। कॉलेज में आकर कांग्रेस की राजनीति कर रही है। मुझसे कुछ छात्राओं ने इस बारे में शिकायत की। इसलिए मैंने प्राचार्य को निर्देशित किया।

सांसद से की शिकायत

बुधवार को रेशमा खान ने सांसद को फैक्स भेजकर मामले की शिकायत की है। रेशमा का कहना है कि मंगलवार को प्राचार्य डॉ. पीआर चंदेलकर ने उन्हें बुलाकर कहा कि विधायक ने कहा कि तुम्हें कॉलेज में प्रवेश न दूं। इस मामले में मैंने सांसद कमलनाथ को पत्र लिखकर अवगत कराया है। रेशमा का कहना है कि इससे पहले प्राचार्य को मुझसे कोई शिकायत नहीं थी। मैं कॉलेज में हर गतिविधि में हिस्सा ले रही थी। इसके अलावा अभी तक मेरा रिजल्ट नहीं आया है। जब तक रिजल्ट नहीं आ जाता मैं नियम से कॉलेज की छात्रा हूं। मुझसे बाहर नहीं निकाला जा सकता।

कॉलेज में प्रवेश न दिया जाए

छात्राओं ने शिकायत की थी। मैंने प्राचार्य से कहा था कि रेशमा खान को कॉलेज में प्रवेश न दिया जाए।

चौधरी चंद्रभान सिंह, विधायक

दोनों को दी है समझाइश

मैंने दोनों को समझाइश दी है। किसी भी हालत में कॉलेज में राजनीति को बढ़ावा नहीं दिया जाएगा।

डॉ. पीआर चंदेलकर, प्राचार्य

रिजल्ट आने तक जाऊंगी कॉलेज

मेरा रिजल्ट अब तक नहीं आया है। जब तक रिजल्ट नहीं आ जाता। मैं कॉलेज जाऊंगी। मैंने सांसद से भी मामले की शिकायत की है।

रेशमा खान, अध्यक्ष, छात्र महासंघ

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???