Patrika Hindi News

उपचार के दौरान ही गुल हो गई बिजली

Updated: IST chhindwara
बिजली विभाग द्वारा समय रहते ही चेतावनी दिए जाने के बावजूद अस्पताल प्रबंधन ने इमरजेंसी के लिए पर्याप्त इंतजाम नहीं किए।

छिंदवाड़ा. बिजली विभाग द्वारा समय रहते ही चेतावनी दिए जाने के बावजूद अस्पताल प्रबंधन ने इमरजेंसी के लिए पर्याप्त इंतजाम नहीं किए। मंगलवार को सुबह 10 बजे अचानक बिजली गुल होने से कई मरीजों की जान पर बन आई। हालांकि कुछ जनरेटर चालू रहे, लेकिन वह भी नाकाफी साबित हुए।

जानकारी के अनुसार डायलिसिस विभाग में कुछ मरीजों को डायलिसिस दिया जा रहा था। इसी बीच बिजली गुल होने से मशीन बंद हो गई, इसके कारण बीच में ही मरीज का डायलिसिस रोकना पड़ा। इसी तरह सोनोग्राफी, एक्स-रे तथा पैथोलॉजी लैब में जांच न होने से मरीजों को परेशान होना पड़ा। इतना ही नहीं सिविल सर्जन कार्यालय, जननी कॉल सेंटर, मेडिसिन स्टोर रूम सहित आईसीयू व पीआईसीयू वार्ड में अंधेरा छाया रहा।

गम्भीर मामला है, कराएंगे जांच

समय पर जानकारी रहने के बावजूद इमरजेंसी बिजली की व्यवस्था नहीं करना गम्भीर मामला है। इसकी जांच कराई जाएगी एवं सम्बंधित दोषियों को नोटिस जारी किया जाएगा।

डॉ. शिखर सुराना, प्रभारी सिविल सर्जन

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???