Patrika Hindi News

लालफीता शाही : छह माह बीते, पास नहीं हुई पुल की ड्राइंग

Updated: IST chhindwara
नागपुर नेशनल हाईवे-547 पर बना पुल धराशायी हुए छह माह से अधिक समय बीत गया है, लेकिन अभी तक ड्राइंग डिजाइन तक पास नहीं हो पाई है

छिंदवाड़ा . नागपुर नेशनल हाईवे-547 पर रामाकोना के समीप गहरानाला में बना पुल धराशायी हुए छह माह से अधिक समय बीत गया है, लेकिन अभी तक इसका निर्माण शुरू नहीं हो पाया हैं। इसकी ड्राइंग डिजाइन अभी तक आईआईटी कानपुर से पास नहीं हो सकी है। इसके चलते आगामी जून मेें शुरू होने वाली बारिश से पहले इस पुल के पुनर्निर्माण के आसार कम नजर आ रहे हैं। ये हाल रहा तो डायवर्सन मार्ग से फिर वाहन चालकों को परेशानी उठानी पड़ेगी।

पिछले वर्ष 2016 की जुलाई-अगस्त की बारिश में यह पुल धराशायी हो गया था। इससे पहले 2015 में भी यह पुल धराशायी हुआ था। इसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से जुड़ी कंसलटेंसी एजेंसी द्वारा पुल को दोबारा नए सिरे से बनाने की सिफारिश की गई थी। तुरंत तो वैकल्पिक मार्ग का इंतजाम कर दिया गया। उसमें पूरी बारिश भारी वाहनों को निकलने में परेशानी उठानी पड़ी।

नए पुल के निर्माण के लिए ड्राइंग डिजाइन तैयार कराकर उसका परीक्षण कराने के लिए आईआईटी कानपुर में पहुंचाया गया। इसे अभी तक मंजूरी नहीं मिल सकी है। बारिश को केवल पांच माह ही शेष बचे हैं। एेसे में कब डिजाइन अपू्रव होगी और कब नया पुल बनेगा, इस पर संदेह बना हुआ है। हालांकि राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों को भरोसा है कि इस माह के तीसरे सप्ताह में कानपुर से डिजाइन अप्रूव हो जाएगी। उसके बाद निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। फिलहाल उन्हें इसका इंतजार है।

हम कानपुर से सीधे करेंगे सम्पर्क

रामाकोना के समीप गहरानाला पुल के पुर्ननिर्माण के लिए ड्राइंग डिजाइन आईआईटी कानपुर के पास भेजी गई है। उसके अप्रूव के लिए मैंने भोपाल में अधिकारियों से चर्चा की। इसके लिए मैं खुद कानपुर जाऊंगा। हर हाल में इसे जनवरी के तीसरे सप्ताह में मंजूरी मिलने की संभावना हैं। उसके बाद इसका निर्माण शुरू किया जाएगा।

अनिल कुमार, परियोजना निदेशक, राष्ट्रीय राजमार्ग छिंदवाड़ा।

इधर, छिंदवाड़ा से खिमलासा तक बनेगा राष्ट्रीय राजमार्ग

छिंदवाड़ा से नरसिंहपुर तक बने राष्ट्रीय राजमार्ग के सागर के आगे खिमलासा तक विस्तार के आसार हैं। राज्य सरकार ने इसका प्रस्ताव तैयार कर केंद्र सरकार को भेजने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई बैठक में नए प्रस्तावों पर केन्द्र से अपेक्षित औपचारिकताएं पूरी करने के निर्देश दिए गए। इन प्रस्तावित मार्गों में 376 किलोमीटर का छिंदवाड़ा से खिमलासा मार्ग भी शामिल है। इसकी मैपिंग देखी जाए तो छिंदवाड़ा से नरङ्क्षसहपुर, फिर सागर तक राष्ट्रीय राजमार्ग है। इसके आगे बीना के समीप खिमलासा स्थल है। केंद्र सरकार इस प्रस्ताव को मंजूर कर निर्माण स्वीकृत करती है तो जिले से जुड़े राष्ट्रीय राजमार्ग का विस्तार हो जाएगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???