Patrika Hindi News

यहां मरीजों को नहीं मिलता उपचार

Updated: IST chhindwara
डॉक्टर्स और बिजली व्यवस्था ने बढ़ाई समस्या, बिना उपचार के लौटे कई मरीज

छिंदवाड़ा. सप्ताह के पहले दिन सोमवार को विभिन्न रोगों से पीडि़त मरीजों की संख्या बढ़ गई। इसके चलते पंजीयन और ओपीडी में मरीजों का काफी जमावड़ा हो गया। इसकी प्रमुख वजह बिजली गुल होना तथा ओपीडी में डॉक्टरों का नहीं मिलना बताया जा रहा है।

पंजीयन के लिए मरीजों की लम्बी कतार लग गई थी। घंटों लाइन में खड़े रहकर मरीजों ने पंजीयन कराया। इसके बावजूद उचित उपचार के लिए मरीजों को मशक्कत करनी पड़ी। इतना ही नहीं भीड़-भाड़ को देखते हुए कई मरीज बिना उपचार के ही लौट गए। मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को शाम तक 1000 से 1200 तक ओपीडी तथा 145 भर्ती पंजीयन किया गया।

ओपीडी में लगी लम्बी कतार

गौरतलब है कि विभिन्न समस्याओं तथा विवादों को लेकर जिला अस्पताल अक्सर सुर्खियों में रहता है। दवाओं तथा डॉक्टर्स की कमी का रोना अस्पताल प्रबंधन रोते रहता है। जबकि कई शासकीय डॉक्टर्स प्राइवेट क्लीनिक चलाते देखे जा सकते है, जहां मनमानी फीस लेकर इलाज अच्छे से करते है।

लेकिन शासकीय अस्पताल में डॉक्टरों का मन ही नहीं लगता है। इस संदर्भ में प्रभारी सिविल सर्जन ने बताया कि कई डॉक्टर्स छुट्टी पर है। कुछ डॉक्टर पोस्टमार्टम कर रहे है। इसलिए ओपीडी में कुछ समय के लिए डॉक्टर मौजूद

नहीं थे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???