Patrika Hindi News

> > > > Society be sensitive to children

बच्चों के प्रति संंवेदनशील बने समाज

Updated: IST chhindwara
जिला जज पहुंचे बच्चों के बीच... जिला सत्र न्यायाधीश एजे खान बुधवार को आकस्मिक चंदनगांव स्थित बालगृह में पहुंचे और वहां की गतिविधियों को देखा।

छिंदवाड़ा. जिला सत्र न्यायाधीश एजे खान बुधवार को आकस्मिक चंदनगांव स्थित बालगृह में पहुंचे और वहां की गतिविधियों को देखा। उन्होनंे वहां रहे रहे बच्चों से विस्तार से चर्चा की और बालगृह की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। बच्चों के साथ संस्था के संचालाकों को संबोधित करते हुए उन्होनंे कहा कि बच्चे बहुत मासूम, सहज और सरल होते हैं। यह देश का भविष्य है। पढ़ाई के साथ ही इनका कौशल विकास किया जाए।

जिला जज ने कहा कि शासन, प्रशासन एवं व्यवसायिक उपक्रम इन बच्चों के बालिग होने पर रोजगार मुहैया कराने में प्राथमिकता देने की कोशिश करें ताकि समाज की मुख्य धारा में जुड़ सकें। समाज के सभी वर्गो के लोगों को इन बच्चों के प्रति संवेदनशील होना चाहिए। अल्प व्यवसायिक प्रशिक्षण के दौरान बच्चों द्वारा निर्मित सामग्री लिफ ाफे, अगरबत्ती, फ ोटो फ्रे म, दिवाली दिया, इत्यादि का अवलोकन कर बच्चों एवं टीम की तारीफ की।

इस अवसर पर बच्चों को प्रेरणादायी जानकारी जेजेबी के प्रधान न्यायधीश संदीप पाटिल एवं जिला विधिक प्राधिकरण अधिकारी सोमनाथ राय ने दी। निदेशक महेन्द्र खरे ने जिले के वंचित बच्चों की स्थिति के विषय में बताया। वार्डन लोकचंद बिसने ने बालगृह की नियमित एवं रोचक गतिविधियों की जानकारी दी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???