Patrika Hindi News

इलाज के अभाव में बच्ची की मौत

Updated: IST The death of a child in the absence of treatment
चौरई अस्पताल के डाक्टरों की लापरवाही और इलाज के अभाव में 6 वषीय मासूम मौत हो गई वहीं दूसरी ओर दोपहर 2.15 बजे चांद रोड पर हुए सड़क हादसे में घायल भी इलाज के अभाव में एक घंटे तक तड़पते रहे।

पत्रिका न्यू•ा नेटवर्क

श्चड्डह्लह्म्द्बद्मड्ड.ष्शद्व

चौरई. जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चौरई में पदस्थ डाक्टरों ने मंगलवार को अपने पेशे एवम् मानवता को शर्मसार कर दिया। मंगलवार को हुई दो अलग-अलग घटनाओं में चौरई अस्पताल के डाक्टरों की लापरवाही और इलाज के अभाव में 6 वषीय मासूम मौत हो गई वहीं दूसरी ओर दोपहर 2.15 बजे चांद रोड पर हुए सड़क हादसे में घायल भी इलाज के अभाव में एक घंटे तक तड़पते रहे। पहली घटना चौरई से 6 किमी दूर ग्राम पलटवाडा की जहां राकेश वर्मा का परिवार सुबह सात बजे से अपना पुराना मकान तोडऩे का काम कर रहे थे तभी राकेश की 6 वर्षीय बेटी श्रेया खेलते हुए वहां आ गई इसी दौरान तोड़ी गई दीवार श्रेया के ऊपर गिर गई और वह दीवार के नीचे दब गई।

परिजनों उसे निकाल कर घायल अवस्था में लगभग 8 बजे चौरई अस्पताल लेकर पहुंंचे मासूम दर्द से तड़पती रही लेकिन चौरई अस्पताल को कोई भी डॉक्टर इलाज करने नहीं पहुंचा। जब डाक्टर आए तब तक श्रेया दम तोड़ चुकी थी । यहां तक कि डाक्टरों ने बच्ची को मृत घोषित कर थाने में सूचना दिए बगैर ही परिजनों को बच्ची का शव सौपकर रवाना कर दिया गया ।

दूसरी घटना चांद रोड चौरई में वेयर हाउस के सामने दोपहर 2.15 घटित हुई जहां बर्रा निवासी 22 वर्षीय संदीप पिता करन यादव अपने रिश्तेदार खुटपिपरिया निवासी 25 वर्षीय अर्जुन पिता बुद्धू यादव के साथ दुपहिया वाहन से चौरई की ओर आ रहा था तभी बरेलीपार पास बने वेयर हॉउस के सामने से जा रहे ट्रैक्टर ने दुपहिया को जोरदार टक्कर मार दी।

ट्रैक्टर में लगे कृषि यंत्र के कारण दोनों बाइक सवारों को बहुत ज्यादा चोटें आई दोनों घायलों को राहगीरों और परिचितों की मदद से चौरई अस्पताल लाया गया। दोनों घायल एक घंटे से ज्यादा तड़पते रहे मगर कोई डॉक्टर उनकी सुध लेने नहीं पहुंचा अस्पताल स्टाफ के अनुसार ड्यूटी पर तैनात महिला डॉक्टर पूजा खन्ना लंच टाइम के बाद बिना सूचना दिए अचानक छिंदवाड़ा चली गई और बीएमओ डॉ सेन पेशी के लिए अमरवाड़ा चले गए थे। आनन् फानन में मौजूद स्टाफ ने दोनों युवकों की मलहम पट्टी कर की फिर परिजन आए और दोनों को इलाज के लिए छिंदवाड़ा ले गए ।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???