Patrika Hindi News

पेंच के इस स्थान पर तीस लोग गंवा चुके हैं जिंदगी

Updated: IST chhindwara
चौरई थाना क्षेत्र के डोंगरदेव मंदिर के समीप से पेंच नदी गुजरती है। नदी का यह सबसे खतरनाक स्थान है यह कहना गलत नहीं होगा।

छिंदवाड़ा . चौरई थाना क्षेत्र के डोंगरदेव मंदिर के समीप से पेंच नदी गुजरती है। नदी का यह सबसे खतरनाक स्थान है यह कहना गलत नहीं होगा। पिछले कुछ वर्षों में यहां मरने वालों का आंकड़ा चौंकाने वाला है। यहां तीस लोगों की जिंदगी पानी में डूबने से खत्म हुई है। हालात भयवाह हंै। डोंगरदेव मंदिर के समीप पिकनिक स्थल होने के कारण बड़ी संख्या में यहां लोग पहुंचते हैं। सुरक्षा के इंतजाम न होने के कारण लोग हादसे का शिकार हो रहे हैं। मंगलवार को एसपी डॉ. जीके पाठक ने इस बात का खुलासा गोताखोरों के सम्मान समारोह में किया।

एसपी ने बताया कि पिकनिक स्थल होने के कारण यहां लोग बड़ी संख्या में पहुंचते हैं। नहाने के लिए लोग नदी में उतरते हैं और गहराई अधिक होने के कारण डूब जाते हैं। पिछले कुछ वर्षों में मरने वालों की संख्या तीस तक पहुंच चुकी है। जल्द प्रशासन यहां सुधार के इंतजाम करेगा जिससे लोग कुछ हद तक सुरक्षित रहेंगे। नदी की गहराई और लोगों को जागरूक करने के हिसाब से भी यहां पोस्टर और बैनर लगाए जा सकते हैं।

गोताखोर हुए सम्मानित

पिछले दिनों पेंच नदी में डूबे दो युवकों का शव निकालने वाले गोताखोरों को मंगलवार को कंट्रोल रूम में सम्मानित किया गया। एसपी डॉ. जीके पाठक ने छह गोताखोरों को नकद दो-दो हजार रुपए का इनाम और प्रमाण पत्र दिए। इनमें राजेश कहार, महेश कहार, रामेश्वर कहार, राजकुमार कहार, श्रीराम कहार, शुभम कहार, सोनू कहार, गोविंद कहार और मोनू कहार शामिल हैं। बताया जा रहा है कि पिकनिक स्थल पर भी पत्थरों पर गोताखोरों का नाम लिखा जाएगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???