Patrika Hindi News

सरकार ने दी जानकारी, ओएनजीसी-एचपीसीएल विलय पर मंत्री स्तरीय वार्ता

Updated: IST Ved Praksh Mahavar
सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ओएनजीसी का कहना है कि उसके द्वारा देश की पेट्रोलियम उत्पादों की बिक्री करने वाली तीसरी बड़ी कंपनी एचपीसीएल के अधिग्रहण पर शुरुआती बातचीत शुरू हो चुकी है और यह मंत्री स्तर पर चल रही है। ओएनजीसी के निदेशक (तटीय) वेद प्रकाश महावर ने कहा कि बातचीत मंत्री स्तर पर चल रही है।

गुवाहाटी. सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ओएनजीसी का कहना है कि उसके द्वारा देश की पेट्रोलियम उत्पादों की बिक्री करने वाली तीसरी बड़ी कंपनी एचपीसीएल के अधिग्रहण पर शुरुआती बातचीत शुरू हो चुकी है और यह मंत्री स्तर पर चल रही है। ओएनजीसी के निदेशक (तटीय) वेद प्रकाश महावर ने कहा कि बातचीत मंत्री स्तर पर चल रही है। हमने ओएनजीसी के निदेशक मंडल में अभी इस पर विचार-विमर्श नहीं किया है। पेट्रोलियम मंत्रालय यह विलय चाहता है, क्योंकि उसका मानना है कि इस विलय से कंपनी का मूल्य वर्धन होगा। इस अधिग्रहण के मूल्यांकन संबंधी रिपोर्टों के बारे में उन्होंने कहा कि यह केवल अनुमान ही लगाए जा रहे हैं, अभी तक इस बारे में निदेशक मंडल स्तर पर कोई चर्चा नहीं हुई है।

अधिग्रहण की बातचीत इस समय शुरुआती स्तर पर

महावर ने कहा कि विलय एवं अधिग्रहण कंपनी के रणनीतिक फैसले होते हैं और एचपीसीएल के अधिग्रहण की बातचीत इस समय शुरुआती स्तर पर ही चल रही है। ओएनजीसी बोर्ड में इस मुद्दे पर बातचीत के लिए कोई प्रस्ताव तैयार किए जाने के बारे में उन्होंने कहा कि हमने इस पर अभी तक कोई बातचीत नहीं की है। महावर के मुताबिक सरकार चाहती है कि ओएनजीसी और एचपीसीएल का विलय होना चाहिए, क्योंकि इससे शेयरधारकों को बेहतर मूल्य मिलेगा।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???