Patrika Hindi News

बलात्कार पीड़िता ने फेसबुक पर पोस्ट किया कुछ ऐसा, जिसे आधार मान अदालत ने बलात्कार के आरोपी को दे दी जमानत

Updated: IST A rape victim who share photo, court granted bail
देश की राजधानी दिल्ली में एक ऐसा अदालती मामला सामने आया है जिसने सभी को हैरान कर दिया है। यहां की एक अदालत ने बलात्कार के एक आरोपी को महज एक वजह को आधार मानते हुए जमानत दे दी...

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में एक ऐसा अदालती मामला सामने आया है जिसने सभी को हैरान कर दिया। यहां की एक अदालत ने बलात्कार के एक आरोपी को महज एक वजह को आधार मानते हुए जमानत दे दी। आरोपी युवक मई 2017 से जेल में था, जिसकी जमानत की अर्ज़ी अदालत में लगाईं गई थी। मामला की शिकायकर्ता महिला के अनुसार 23 मई (2017) को सुबह छह बजे आरोपी उसे आनंद विहार से गाजियाबाद के होटल ब्लैक में ले गया। और जान से मारने की धमकी देकर उसके साथ बलात्कार किया था।

एक वेबसाइट में छपी खबर के मुताबिक़ महिला ने उसपर हुए अपराध की शिकायत दर्ज़ कराने के कुछ दिन बाद पति के साथ फेसबुक पर कुछ तस्वीरें पोस्ट की थीं जिसमें वो खुश नजर आ रही है। अदालत ने इन्हीं तस्वीरों को आधार मानते हुए आरोपी को जमानत दे दी। जमानत देने की वजह बताते हुए कहा गया कि बलात्कार की पीड़िता इन दिनों अपनी पति के साथ खुश है। इन तस्वीरों के आधार पर अदालत ने बलात्कार पीड़िता का ‘अच्छा मूड’ मानते हुए और दूसरी दलीलों के आधार पर आरोपी को जमानत दे दी।

आरोपी के वकील ने इन्हीं तस्वीरों को आधार बनाया और सबूत के तौर पर अदालत में पेश करते हुए आरोपी को जमानत देने की मांग की। वकील ने अपनी दलील में कहा कि महिला द्वारा लगाया गया आरोप झूठा है क्योंकि महिला और उनके क्लायंट के बीच प्रोपर्टी को लेकर विवाद चल रहा है। वकील ने दलील देते हुए कहा कि आमतौर पर बलात्कार की शिकार महिलाएं में रेप ट्रॉमा सिन्ड्रोम के लक्षण नजर आने लगते हैं और पीड़िताओं में काफी हद तक निराशा बढ़ जाती है। लेकिन इस मामले में आरोप लगाने वाली पीड़िता के के साथ ऐसा कुछ नहीं हुआ बल्कि वो खुश नजर आ रही है!

आरोपी के वकील की दलीलों पर गौर करने के बाद अदालत ने चार से सात जून 2017 के बीच महिला द्वारा पोस्ट की गईं तस्वीरों को आधार मानते हुए आरोपी को जमानत दे दी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???