Patrika Hindi News

जम्मू : मुठभेड़ में 7 जवान शहीद, 6 आतंकी मारे गए

Updated: IST Terror Strike
रक्षा प्रवक्ता कर्नल जोशी ने बताया कि पुलिस की वर्दी पहने सशस्त्र आतंककारियों के एक समूह ने नगरौटा में कोर मुख्यालय से 3 किलोमीटर दूर स्थित सेना की एक इकाई को निशाना बनाया

नगरोटा (जम्मू)। जम्मू के बाहरी इलाके नगरौटा में मंगलवार को मुठभेड़ में सेना के दो अधिकारियों समेत सात जवान शहीद हो गए, जबकि तीन आतंकी मारे गए। इसके अलावा जम्मू के साम्बा जिले में रामगढ़ सेक्टर में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने घुसपैठ के एक प्रयास को विफल कर दिया जिसमें सेना के पांच जवान घायल हो गए और तीन आतंकी मारे गए। रक्षा प्रवक्ता कर्नल एन एन जोशी ने जारी एक बयान में बताया कि आज (मंगलवार) तड़के पुलिस की वर्दी पहने सशस्त्र आतंककारियों के एक समूह ने नगरौटा में कोर मुख्यालय से तीन किलोमीटर दूर स्थित सेना की एक इकाई को निशाना बनाया।

उन्होंने बताया कि आतंकी गोलीबारी करते हुए ऑफिसर्स मेस परिसर में घुस गए। सेना ने भी जवाबी कार्रवाई। इस मुठभेड़ में सेना का एक अधिकारी और तीन सैनिक शहीद हो गए। प्रवक्ता ने बताया कि आतंकी सैन्य अधिकारियों की दो इमारतों में भी घुस गए। इन इमारतों में सेना के परिजन रहते हैं। सेना के अधिकारियों, उनके परिवार और स्टॉफ के लिए बंधक बनाए जैसी स्थिति पैदा हो गई थी।

किया फिदायीन हमला

कर्नल जोशी ने बताया कि स्थिति को तुरन्त नियंत्रित किया गया और एक अभियान चलाकर 12 सैनिकों, दो महिलाओं और दो बच्चों सहित सभी लोगों को बचा लिया गया। इस बचाव अभियान के दौरान एक और अधिकारी तथा दो जवान शहीद हो गए। उन्होंने बताया कि तीन आतंककारियों के शव बरामद किए गए हैं और पूरे क्षेत्र में अभियान चलाया गया है। इस बीच आतंककारियों ने जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सेना की 166वीं फील्ड रेजिमेंट पर फिदायीन हमला किया। यह अभियान 12 घंटे से अधिक समय तक चला।

सभी स्कूल बंद करने के आदेश

प्रवक्ता ने बताया कि और संदिग्ध आतंककारियों की मौजूदगी से भी इनकार नहीं किया जा सकता इसलिए कल (बुधवार) सुबह फिर से खोजबीन अभियान शुरू किया जाएगा। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर पुराने मार्ग को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है और नए मार्ग पर वाहनों की आवाजाही की अनुमति है। जम्मू के उपायुक्त ने नगरौटा तहसील के सभी स्कूलों को बंद करने के आदेश दिए हैं।

बीएसएफ ने मार गिराए तीन आतंकी

इस बीच, एक अलग अभियान में बीएसएफ ने सुबह साम्बा जिले में रामगढ़ सेक्टर के चमलियाल क्षेत्र में घुसपैठ के एक प्रयास को विफल कर दिया। बीएसएफ जवानों ने 28 और 29 नवम्बर की दरम्यानी रात में रामगढ़ सेक्टर के एक क्षेत्र में तीन लोगों की संदिग्ध गतिविधि देखी। इसके बाद बीएसएफ के जवानों ने तुरन्त कार्रवाई करते हुए इलाके को घेर लिया। आतंककारियों ने बीएसएफ जवानों पर स्वचालित हथियारों और ग्रेनेड़ से गोलीबारी करनी शुरू कर दी। प्रवक्ता ने बताया कि इसके बाद बीएसएफ जवानों की जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकी मारे गए और पांच जवान घायल हो गए। सभी घायलों को तुरन्त एमएच 66 बेस अस्पताल ले जाया गया गया जहां उनकी हालत स्थिर बताई गई है। मारे गए आतंककारियों के पास से 18 मैगजीन, 25 ग्रेनेड़, तीन आईईडी बेल्ट और एक वायरलेस सेट बरामद किया गया है।

सख्ती से निपटा जाएगा

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने नगरौटा में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की है। उन्होंने साम्बा में हुए इसी तरह के हमले की भी कड़ी निंदा की है। मुफ्ती ने जारी एक बयान में कहा कि जम्मू-कश्मीर लगातार जारी हिंसा के कारण बुरी तरह से प्रभावित हुआ है और उन्होंने यह हिंसा समाप्त किए जाने की अपील की। मुख्यमंत्री ने शहीद हुए सैनिकों के

परिवार वालों से सहानुभूति जताई और घायल सैनिकों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। राज्य के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने इस आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा कि आतंकी तत्वों से कड़ाई से निपटा जाएगा और ऐसे तत्वों को कड़ा जवाब दिया जाएगा। डॉ सिंह ने रामगढ़ में घुसपैठ के प्रयास की भी निंदा की। बीएसएफ ने इस प्रयास को विफल कर दिया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???