Patrika Hindi News

व्यापमं घोटाला: CBI ने सुप्रीम कोर्ट में दिया शपथपत्र

Updated: IST CBI files affidavit in Supreme Court
केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और अन्य लोगों के खिलाफ व्यापमं (व्यावसायिक परीक्षा मंडल) घोटाले में मध्य प्रदेश के CM शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ जाली दस्तावेज़ के आधार पर झूठे आरोप लगाने के मामले में कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

नई दिल्ली. केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और अन्य लोगों के खिलाफ व्यापमं (व्यावसायिक परीक्षा मंडल) घोटाले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ जाली दस्तावेज़ के आधार पर झूठे आरोप लगाने के मामले में कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

दिग्विजय पर होगी कार्रवाई
कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने वर्ष 2015 में सुप्रीम कोर्ट में एक रिट याचिका दायर की थी जिसमे उन्होंने व्यापमं के ऑफिस से मिली हार्ड डिस्क और सभी दस्तावेजों के फोरेंसिक जांच की मांग की थी। उनका कहना था कि कुछ खास लोगों को बचाने के लिए इनसे छेड़छाड़ की गई है।
दस्तेवाज के साथ छेड़छाड़ नहीं
सीबीआई ने अदालत को बताया कि जब्त दस्तावेजों को जांच के लिए हैदराबाद की सेंट्रल फॉरेंसिक लेबोरेट्री में भेजा गया था। लेबोरेट्री ने अपनी रिपोर्ट में कहा की दस्तावेजों के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं हुई थी।

दिग्विजय ने भी दायर की थी याचिका
बुधवार को सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में प्रशांत पांडे की याचिका पर शपथपत्र के जरिए जवाब देते हुए कहा कि, मौजूदा याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में इंदौर पुलिस की कार्रवाई में 18 जुलाई, 2013 को जब्त एक कंप्यूटर हार्ड डिस्क के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाया। वहीं, दिग्विजय सिंह ने भी इसी तरह के आरोपों के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। सिंह की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने व्यापमं मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी।...प्रशांत पांडे की ओर से दी गई हार्ड डिस्क और पेन ड्राइव को फोरेंसिक जांच के लिए हैदराबाद भेजा गया था। लैब की गई रिपोर्ट में पांडे और दिग्विजय सिंह की ओर से लगाए छेड़छाड़ के आरोपों को खारिज किया गया है।

पेन ड्राइव में फर्जी डिजिटल रिकॉर्ड बनाए...
सीबीआई ने अपने जवाब में कहा कि इस मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी की जांच भी इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि सीज की गई हार्ड डिस्क से छेड़छाड़ के आरोप झूठे हैं। और इस बारे में आरोप लगाने में शामिल कुछ लोगों ने संबंधित पेन ड्राइव में फर्जी डिजिटल रिकॉर्ड बनाए। और इसी आधार पर झूठे आरोप लगाए।
तब यह कहा था...
दिग्विजय सिंह ने फरवरी, 2015 में दावा किया था कि उनके पास एक पेन ड्राइव है जिसमें मध्य प्रदेश के मु यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, उनकी पत्नी साधना सिंह और व्यापमं घोटाले के कुछ आरोपियों के बीच के संदेश हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???