Patrika Hindi News

पुल पर से उफनते नाले से निकलकर जोखिम में डाल रहे जान

Updated: IST Learn out risk from rising river
रात्रि 2 बजे से दोपहर 3 बजे कुम्हारी-सगौनी मार्ग के पुल पर बह रहा पानी, बसें, राहगीर, बाइक सवार खतरा मोल लेकर पार कर रहे उफनाते नाले को

दमोह. मप्र के दमोह जिले के अनेक क्षेत्रों में सोम-मंगल की दरम्यानी रात हुई बारिश का असर छोटे पुल व पुलियों वाले मार्गों पर देखा जा रहा है। कुम्हारी से सगौनी स्टेशन तक जाने वाले जंगली नाला उफनाया हुआ है। इस पुल पर से उफनाते नाले को लोग पार कर रहे हैं, इसके अलावा कुछ युवा इसमें गोता भी लगा रहे हैं।

ग्रामीणों के अनुसार इस पुल पर गहरे गड्ढे हैं, जिसके बावजूद बस, चार पहिया वाहन भी निकल रहे हैं, जबकि पहले ऐसे ही उफनाते नलों में बसों व चार पहिया बहने की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। इस उफनाते नाले पर सुरक्षा के लिहाज से पुलिस व प्रशासन ने भी कोई प्रबंध नहीं किए हैं, जिससे लोग जान जोखिम में डालकर पुल पार कर रहे हैं। कुम्हारी क्षेत्र के अलावा करीब 30 से 35 गांवों के लोग इसी रास्ते से ट्रेन से यात्रा करने सगौनी पटेरिया स्टेशन पहुंचते हैं। इसके अलावा प्रतिदिन 20 से अधिक बसों का आवागमन होता है।

रात्रि से दोपहर तक उफनाए पुल के समीप न तो आपदा प्रबंधन के लोग नजर आए और न ही प्रशासन व पुलिस प्रशासन द्वारा बैरिकेट्स लगाए गए हैं। इस मामले में हटा एसडीएम डॉ. सीपी पटैल का कहना है कि उन्हें जानकारी नहीं मिली थी। वे तत्काल निर्देशित करते हैं कि जहां भी पुल व पुलियों से ऊपर पानी बह रहा है, वहां सुरक्षा के मद्देनजर चौकसी व्यवस्था के लिए पुलिस कर्मचारी व आपदा प्रबंधन के लिए होमगार्ड के जवान तैनात किए जाएं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???